इस साल 63 कंपनियों ने IPO से जुटाए 1.18 लाख करोड़ रुपये, बनाया नया रिकॉर्ड

साल 2020 की तुलना में इस साल IPO से 4.5 गुना अधिक रकम जुटाई गई है

साल 2021 में अभी तक 63 कंपनियों के इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) आ चुके हैं, जिसके जरिए इन कंपनियों ने रिकॉर्ड 1.18 लाख करोड़ रुपये जुटाए हैं। यह किसी भी साल में IPO के जरिए जुटाई गई अब तक की सबसे अधिक रकम है।

प्राइम डेटाबेस (Prime Databse) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2020 की तुलना में इस साल IPO से 4.5 गुना अधिक रकम जुटाई गई है। वर्ष 2020 में 15 कंपनियों ने IPO के जरिए 26,613 करोड़ रुपये जुटाए थे। वहीं साल 2017 में IPO से 68,827 करोड़ रुपये जुटाए गए थे, जिसके मुकाबले इस साल अब तक लगभग दोगुनी रकम जुटाई गई है।

प्राइम डेटाबेस ग्रुप के मैनेजिंड डायरेक्टर प्रणव हल्दिया ने बताया कि IPO में तेजी की अगुआई नए जमाने की टेक्नोलॉजी स्टार्ट-अप कंपनियों ने की। ये कंपनियां वैसे तो घाटे में चल रही हैं, लेकिन फिर भी इनके इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) में निवेशकों ने काफी दिलचस्पी दिखाई। हल्दिया ने बताया कि इस साल IPO मार्केट की सबसे खास बात रिटेल निवेशकों का खूब बढ़-चढ़कर भाग लेना था।

RBI ने ‘कार्ड टोकनॉइजेशन’ नियमों को लागू करने की समयसीमा 30 जून, 2022 तक बढ़ाई

हल्दिया ने बताया कि इस साल का अब तक सबसे बड़ा IPO पेटीएम (Paytm) की मूल कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस (One97 Communications) का था, जिसका साइज 18,300 करोड़ रुपये था। यह अब तक का भारत का सबसे बड़ा IPO है। वहीं इस साल दूसरा सबसे बड़ा IPO ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो (Zomato) का रहा, जो 9,300 करोड़ रुपये का था। इस साल जारी हुए IPO का औसत साइज अभी तक 1,884 करोड़ रुपये रहा।

रिपोर्ट के अनुसार 59 कंपनियों के IPO में से 36 कंपनियों को दस गुना से अधिक सब्सक्रिप्शन मिला, जिनमें छह कंपनियों के IPO का सब्सक्रिप्शन 100 गुना या उससे भी अधिक रहा। वहीं आठ IPO को तीन गुना से अधिक बोली मिली, जबकि बाकी 15 कंपनियों के IPO को एक से तीन गुना तक का सब्सक्रिप्शन हासिल हुआ।

यह भी पढ़े:  Tega Industries IPO: जानें इस इश्यू का ग्रे मार्केट प्रीमियम क्यों है इतना मजबूत?
close