कब्ज का इलाज करने के 10 आसान घरेलू उपाय – Constipation Tips in Hindi

कब्ज का इलाज : क़ब्ज़ का मतलब है पेट ठीक से साफ़ ना होना और मल त्याग करने में परेशानी होना। अगर आपको ये बीमारी लंबे समय से है और आपने अभी तक इसके उपचार के उपाय नहीं किए है तो ये समस्या एक गंभीर बीमारी बन सकती है। खाने पीने की गलत आदतों के कारण कब्ज की शिकायत होती है। इसके अलावा रात को खाना खाने के तुरंत बाद सो जाना कुछ ऐसी आदत है जिसकी वजह से भी कब्ज़ का रोग होता है। कब्ज हमारे digestive system को कमजोर करता है और इसकी वजह से कई प्रकार की बीमारियां होने की आशंका बढ़ जाती है जिससे भूख कम लगना, बवासीर, एसिडिटी और गैस। 

यदि कब्ज का इलाज शीघ्र ही नहीं किया जाये तो शरीर में अनेक विकार उत्पन्न हो जाते हैं। कब्जियत का मतलब ही प्रतिदिन पेट साफ न होने से है। एक स्वस्थ व्यक्ति को दिन में दो बार यानी सुबह और शाम को तो मल त्याग के लिये जाना ही चाहिये। दो बार नहीं तो कम से कम एक बार तो जाना आवश्यक है। नित्य कम से कम सुबह मल त्याग न कर पाना अस्वस्थता की निशानी है|

कब्ज की समस्या को कम करने के लिए सबसे जरूरी है कि आप खानपान पर ध्यान दें| आपका आहार सही होगा तो कब्ज की समस्या होगी ही नहीं| हो सकता है कि क्रोनिक कब्ज को इस तरीके से ठीक होने में थोड़ा समय लगे, लेकिन सही आहार कब्ज का रामबाण उपाय साबित हो सकता है| इसके लिए आपको तला भुना कम खाना होगा| बहुत ज्यादा शराब और कॉफी भी कब्ज का कारण हो सकती हैं|

अपने खानपान में सुधार कर के हम इस बीमारी से बच सकते है। इस लेख में हम कब्ज का इलाज करने के आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे जानेंगे जो पुरानी से पुरानी कब्ज खोलने में कारगर है, Constipation Treatment Tips in Hindi.

  • जाने पेट दर्द का इलाज कैसे करे
  • जाने बवासीर के लक्षण और उपचार

कब्ज के लक्षण 

  • सासों की बदबू
  • लेपित जीभ
  • बहती नाक
  • भूख में कमी
  • सरदर्द
  • चक्कर आना
  • जी मिचलाना
  • चेहरे पर दाने
  • मुँह में अल्सर
  • पेट में लगातार परिपूर्णता

 कब्ज का इलाज करने के घरेलू और आयुर्वेदिक नुस्खे(Kabz ka gharelu upay)

Kabz / Constipation Home Remedies in Hindi

कब्ज होने का सबसे बड़ा कारण शरीर में पानी की कमी होना है। पानी की कमी होने पर आंतों में मल सूखने लगता है और मल त्याग करने में काफी जोर लगाना पड़ता है। कब्ज का इलाज के लिए रोगी को पानी अधिक मात्रा में पीना चाहिए और खाना खाते समय पानी नही पीना चाहिए।

  1. कब्ज दूर करने के लिए रोगी को फलों में पपीता और अमरूद जरूर खाना चाहिए।
  2. पेट में जमे हुए मल को बाहर निकालने के लिए 1 कप गुनगुने पानी में 1 नींबू निचोड़ कर पिए।
  3. कब्ज का इलाज करने हो या फिर छुटकारा पाना हो, 1 गिलास गर्म दूध रात को सोने से पहले पिए। अगर मल आंतों में चिपक रहा हो तो दूध में 1 से 2 चम्मच अरंडी का तेल मिलाकर पिए।
  4. ईसबगोल की भूसी कब्ज के इलाज में रामबाण का काम करती  है। 125 ग्राम दही में 10 ग्राम इसबगोल की भूसी घोल कर सुबह शाम खाने से कब्ज़ में आराम मिलता है।
  5. बेकिंग सोडा जिसे हम मीठा सोडा से भी जानते है कब्ज खोलने में काफी फायदेमंद है। एक चौथाई कप गर्म पानी में 1 चम्मच मीठा सोडा मिलाकर पिए.
  6. पेट की बीमारियों से बचने और उनके उपचार के लिए पेट में अच्छे बैक्टीरिया होना जरूरी है। दही खाने से शरीर में अच्छे बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ेगी। Kabz ke upay के लिए दिन में २ से ३ कप दही का सेवन ज़रूर करें।
  7. आधा गिलास पत्ता गोभी का जूस पीने से कब्ज के रोग से निजात मिलती है। पालक का जूस भी kabj kholne में काफी असरदार है।
  8. 1 ग्लास गरम दूध में आधा चम्मच हल्दी पाउडर और एक चम्मच घी मिलाकर घोल ले और रात को सोने से पहले पिए।
  9. एक ग्लास दूध में थोड़ी अंजीर उबाल ले और सोने से पहले पिए।
  10. सुबह खाली पेट एक गिलास गर्म पानी में दो चम्मच शहद मिलाकर पीने से कब्ज दूर होती है।

क़ब्ज़ का आयुर्वेदा से इलाज – Ayurvedic Treatment for Constipation

  1. कब्ज का इलाज करने के लिए रात को सोने से पहले तांबे के बर्तन में पानी भर कर रखे और उसमे 1 चम्मच त्रिफला चूर्ण डाल कर रख दे। सुबह इस पानी को खाली पेट छानकर पिए। इस उपाय को कुछ दिन लगातार करने से कब्ज जड़ से खत्म हो जाती है।
  2. पानी में अलसी के बीज का पाउडर लेने से कब्ज में राहत मिलती है।
  3. रात को सोने से पहले गुनगुने दूध में बादाम का तेल मिलाकर पिए। 2 हफ्ते लगातार ये natural gharelu upay करने से पुराने से पुरानी कब्ज ठीक हो जाती है।
  4. किशमिश में फाइबर अधिक मात्रा में होता है। रात को सोने से पहले 1 मुट्ठी किशमिश पानी में भिगो कर रखे और सुबह खाली पेट खाए।
  • जाने बवासीर का इलाज के घरेलु उपाय
  • जाने एसिडिटी उपचार के घरेलू टिप्स

बाबा रामदेव योगा से क़ब्ज़ का उपचार

कब्ज ठीक करने में yoga करने से काफी फायदा मिलता है। Baba Ramdev के बताये हुए ये योगासन पेट की अन्य बीमारियों के उपचार में भी असरदार है।

  • धनुरासन
  • कपालभाति प्राणायाम
  • अनुलोम विलोम प्राणायाम

क़ब्ज़ से बचने के उपाय – Kabz se Bachne ke Upay

  • भोजन की पाचन क्रिया पेट से नहीं मुंह से शुरू होती है इसलिए खाने में जो भी खाए उसे अच्छे से चबाएं ताकि पेट में भोजन जल्दी पच जाए।
  • खाने में फाइबर ज्यादा लेने से कब्ज की समस्या नहीं होती। हरी पत्तेदार सब्जियां, सलाद और फलों में फाइबर अधिक होता है।
  • कब्ज से बचना है तो शरीर में पानी की कमी ना होने दे। दिन में 3 से 4 लीटर पानी ज़रूर पिए।

इस लेख में बताए गए नुस्खे आपकी जानकारी के लिए है कोई भी उपाय करने से पहले आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह अवश्य ले।

  • भूख बढ़ाने के उपाय
  • दादी माँ के घरेलू नुस्खे
  • बाबा रामदेव आयुर्वेदिक मेडिसिन
  • अपेंडिक्स का उपचार के देसी तरीके

दोस्तो कब्ज का इलाज करने के घरेलू और आयुर्वेदिक उपाय – Constipation treatment in hindi का ये लेख आपको कैसा लगा  हमें कमेंट करके बताएं। अगर आपके पास kabj kholne ke nuskhe है तो हमारे साथ साझा करे।

यह भी पढ़े:  ऑक्सीटोसिन हार्मोन क्या है, कार्य, उपयोग, दुष्प्रभाव, फायदे और नुकसान - Oxytocin hormone, function, uses, side effects in Hindi
close