तुलसी स्तुति : देवउठनी एकादशी के दिन इस मधुर स्तुति से करें पूजन, पाएं अपार धनसंपदा का आशीष

देवउठनी एकादशी के दिन इस तरह करें पूजन, पाएं अपार धनसंपदा का आशीष

अगर आपके पास मंत्र, चालीसा और आरती का समय नहीं है तो देवउठनी/देव प्रबोधिनी एकादशी पर इस सरल और मधुर स्तुति से करें तुलसी जी का पूजन और पाएं अपार धनसंपदा और ऐश्वर्य का आशीर्वाद…।

आइए पढ़ें तुलसी स्तुति- नमो नमो तुलसी महारानी…
नमो नमो तुलसी महारानी
नमो नमो हरि की पटरानी
जाको दरस परस अघ नासे
महिमा वेद पुराण बखानी
साखा पत्र, मंजरी कोमल
श्रीपति चरण कमल लपटानी
धन्य आप ऐसो व्रत किन्हों
सालिग्राम के शीश चढ़ानी
छप्पन भोग धरे हरि आगे
तुलसी बिन प्रभु एक ना मानी
प्रेम प्रीत कर हरि वश किन्हें
सांवरी सूरत ह्रदय समानी
मीरा के प्रभु गिरधर नागर
भक्ति दान दीजै महारानी।

ALSO READ:
इस स्तुति से होते हैं भगवान विष्णु प्रसन्न, खास अवसरों पर अवश्य पढ़ें…
यह भी पढ़े:  श्रीगणेश की आरती : जय गणेश देवा...