भारतीय शूटर अभिनव बिंद्रा | Abhinav Bindra Biography In Hindi

अभिनव सिंह बिंद्रा – Abhinav Bindra एक भारतीय शूटर और 10 मी. एयर राइफल प्रतियोगिता के वर्ल्ड एवं ओलंपिक चैंपियन है। 2008 के बीजिंग ओलंपिक खेल की 10 मी. एयर राइफल में गोल्ड मेडल जीतने के बाद ओलंपिक खेलो में किसी एकल भारतीय द्वारा गोल्ड जीतने वाले वे पहले भारतीय है।

भारतीय शूटर अभिनव बिंद्रा – Abhinav Bindra Biography In Hindi

1980 में पुरुष हॉकी टीम के गोल्ड मेडल जीतने के बाद भारत के लिए यह मेडल था। एक ही समय में वर्ल्ड और ओलंपिक चैंपियन का टाइटल पाने वाले भी वे एकमात्र और पहले भारतीय है। 2006 में ISSF वर्ल्ड शूटिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने के बाद उन्होंने 2008 के बीजिंग ओलंपिक खेल में भी गोल्ड मेडल जीत वर्ल्ड चैंपियनशिप का टाइटल अपने नाम किया था। अभिनव ने 2014 में ग्लासगो के कामनवेल्थ गेम्स में भी गोल्ड मेडल अपने नाम किया है।

2014 में अभिनव बिंद्रा गोस्पोर्ट फाउंडेशन, बंगलौर में सलाहकार समिति के सदस्य बनकर शामिल हो गए। गोस्पोर्ट फाउंडेशन के साथ मिलने के बाद उन्होंने भारत में खेलो को बढ़ावा दिया और अभिनव बिंद्रा शूटिंग डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत वे बहुत से होनहार शूटर की खोज में लगे रहे।

मई 2016 में इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) ने अभिनव बिंद्रा को 2016 रिओ ओलंपिक गेम्स के लिए भारतीय उपमहाद्वीप का गुडविल एम्बेसडर नियुक्त किया।

प्रारंभिक साल –

अभिनव बिंद्रा – Abhinav Bindra का जन्म एक पंजाबी सिक्ख परिवार में हुआ था। चंडीगढ़ की सेंट स्टेफेन स्कूल जाने से पहले उन्होंने दो साल तक द दून स्कूल में प्राथमिक शिक्षा हासिल की। बाद में सन 2000 में वे स्टेफेन कॉलेज से ही ग्रेजुएट हुए। उनके माता-पिता ने पंजाब के पटियाला के अपने घर में इनडोर शूटिंग रेंज स्थापित कर रखी थी। उनके विश्वसनीय सलाहकार डॉ. अमित भट्टाचार्यजी थे, जो बहुत समय से उनसे जुड़े हुए थे और बचपन से ही अभिनव भी उन्हें देखते आ रहे थे। अभिनव के अंदर शूटिंग के हुनर को सबसे पहले उनके सलाहकार भट्टाचार्यजी और Lt.Col. ढिल्लों ने ही पहचाना था। 2000 के ओलंपिक खेलो में भारतीय प्रतियोगियों में अभिनव बिंद्रा सबसे युवा थे। उनके वर्तमान कोच स्विट्ज़रलैंड के बसेल से पाँच बार के ओलंपिक शूटर गब्रिएले बुह्ल्मान्न है। अभिनव ने उनके साथ ओलंपिक से पहले जर्मनी में अभ्यास किया था।

2000 के ओलंपिक में अभिनव बिंद्रा ने 590 अंक प्राप्त कर क्वालिफिकेशन राउंड में 11 वे नंबर पर काबिज थे। लेकिन उन्हें फाइनल में जगह नही बनाते आयी क्योकि शीर्ष 8 को ही उस समय फाइनल में जगह दी जाती थी। नाराजगी भरे इस प्रदर्शन के बाद बिंद्रा ने कहा था की फ़िलहाल शूटिंग से रिटायर होने में उनकी कोई रूचि नही है।

बिज़नस करियर –

Abhinav Bindra ने यूनाइटेड स्टेट की कोलोराडो यूनिवर्सिटी से B.B.A  की उपाधि प्राप्त की है। बिंद्रा अभिनव फ्यूचरिस्टिक के सीईओ है। इसके साथ ही अभिनव ने सैमसंग, बीएसएनएल और सहारा समूह से स्पॉन्सरशिप भी ले रखी है। इसके साथ ही वे राज्य की स्टील अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड के ब्रांड एम्बेसडर और साथ ही फेडरेशन ऑफ़ इंडियन चैम्बर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (FICCI) स्पोर्ट समिति के 2010 से सदस्य बने हुए है।

व्यक्तिगत जीवन –

हरपर स्पोर्ट ने उनकी आत्मकथा को भी प्रकाशित किया है, ए शॉट एट हिस्ट्री : माय ऑबेसिव जर्नी टु ओलंपिक गोल्ड (A Shot at History: My Obsessive Journey to Olympic Gold)। लेकिन 27 अक्टूबर 2011 को यूनियन स्पोर्ट मिनिस्टर अजय माकन ने नयी दिल्ली में एक कार्यक्रम में इसे रिलीज किया था।

अवार्ड और उपलब्धियाँ –

  • 2000 – अर्जुन अवार्ड
  • 2001 – राजीव गांधी खेल रत्न (भारत का सर्वोच्च खेल पुरस्कार)
  • 2009 – पद्म भुषण
  • 2011 – 2008 के ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने के बाद सम्माननीय लेफ्टिनेंट कर्नल अवार्ड दिया गया
  • मित्तल चैंपियन ट्रस्ट द्वारा 15 मिलियन (US$ 2,20,000) का पुरस्कार
  • केंद्र सरकार द्वारा पुरस्कार स्वरुप 5 मिलियन (US$ 74,000) की नगद राशी दी गयी
  • हरियाणा राज्य सरकार द्वारा पुरस्कार स्वरुप 2.5 मिलियन (US$ 37,000) की नगद राशी दी गयी
  • बोर्ड ऑफ़ कण्ट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया द्वारा पुरस्कार स्वरुप 2.5 मिलियन (US$ 37,000) की नगद राशी दी गयी
  • स्टील मिनिस्ट्री ऑफ़ इंडिया द्वारा 1.5 मिलियन (US$ 22,000) रुपयों की नगद राशी पुरस्कार स्वरुप दी गयी
  • बिहार राज्य सरकार द्वारा पुरस्कार स्वरुप 1.1 मिलियन (US$ 16,000) की नगद राशी दी गयी।
  • कर्नाटक राज्य सरकार द्वारा पुरस्कार स्वरुप 1 मिलियन (US$ 15,000) की नगद राशी दी गयी
  • गोल्ड जिम के चेयरमैन एस. अमोलक सिंह गखाल द्वारा पुरस्कार स्वरुप 1 मिलियन (US$ 15,000) की नगद राशी दी गयी
  • महाराष्ट्र राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा पुरस्कार स्वरुप 1 मिलियन (US$ 15,000) की नगद राशी दी गयी
  • ओड़िसा राज्य सरकार द्वारा पुरस्कार स्वरुप 5,00,000 रुपये की नगद राशी दी गयी
  • तमिलनाडु राज्य सरकार द्वारा पुरस्कार स्वरुप 5,00,000 रुपये की नगद राशी दी गयी
  • छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा पुरस्कार स्वरुप 1,00,000 रुपये की राशी दी गयी
  • मध्यप्रदेश राज्य सरकार द्वारा पुरस्कार स्वरुप 1,00,000 रुपये की नगद राशी दी गयी पुरस्कार स्वरुप 1 मिलियन (US$ 15,000) की नगद राशी दी गयी
  • रेल्वे मिनिस्ट्री ऑफ़ इंडिया द्वारा फ्री लाइफटाइम रेल्वे पास दी गयी
  • केरला राज्य सरकार द्वारा गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया
  • पुणे म्युनिसिपल कारपोरेशन द्वारा पुरस्कार स्वरुप 1.5 मिलियन (US$ 22,000) की नगद राशी दी गयी

उपलब्धियाँ –

  • 2001 म्युनिक वर्ल्ड कप में 600 में से 597 अंक पाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया और ब्रोंज मेडल भी जीता।

अभिनव का अर्थ होता है कुछ नया और उत्साह से भरा हुआ। अभिनव बिंद्रा में ने नाम के अनुरूप ही अपना नाम रोशन किया है। इतनी कम उम्र में शायद ही कोई खिलाडी इस मुकाम तक पंहुचा होगा। आज पूरा भारत इस महान शूटर पर गर्व करता है। भारत के युवाओ से उनसे कुछ सीखना चाहिए।

और अधिक लेख :-

  1. बॉक्सर मैरी कॉम की कहानी
  2. ग्रेट बॉक्सर विजेंदर सिंह
  3. फ्रीस्टाइल रेसलर सुशिल कुमार

Please Note :- आपके पास About Abhinav Bindra Biography In Hindi मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे. धन्यवाद.

अगर आपको Life Information of Abhinav Bindra in Hindi language अच्छी लगे तो जरुर हमें WhatsApp status और facebook पर share कीजिये. E-MAIL Subscription करे और पायें Short biography about Abhinav Bindra in Hindi language and more new article. आपके ईमेल पर.

यह भी पढ़े:  भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली का जीवन परिचय - Virat Kohli Biography in Hindi
close