भारत को 3 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनाने में Tata Group की होगी अहम भूमिका: एन चंद्रशेखरन

एन चंद्रशेखरन का मानना है कि भारत को 3 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनाने में टाटा ग्रुप अहम भूमिका निभा सकता है

टाटा ग्रुप के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन (N Chandrasekaran) का मानना है कि 2024 तक भारत के 3 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य को पूरा करन में टाटा ग्रुप अहम भूमिका निभा सकता है। एन चंद्रशेखरन ने टाटा ग्रुप के कर्मचारियों को लिखे लेटर में ये बातें कहीं।

चंद्रशेखरन ने कहा, “मैं जब आपको यह लेटर लिख रहा हूं, तब एक और कठिन साल अंत होने वाला है। एक साल पहले, हमने सोचा था कि हमने महामारी का सबसे बुरा हाल देख लिया है। लेकिन दुख की बात है कि दूसरी लहर पहली की तुलना में कहीं अधिक कठिन साबित हुई। व्यक्तियों, परिवारों और समुदायों को बहुत नुकसान हुआ है और मुझे पता है कि आप में से कुछ ने व्यक्तिगत नुकसान सहा है। जो लोग नए साल में अपने किसी करीबी, परिवार के सदस्य या दोस्त के बिना प्रवेश करने वाले हैं उनके पति मेरी गरी संवेदनाएं हैं।”

टाटा ग्रुप के बारे में बात करते हुए N Chandrasekaran ने कहा है कि आने वाले समय में ग्रुप की रणनीति में डिजिटल, न्यू एनर्जी, सप्लाई चेन का जुझारूपन और हेल्थ जैसे विषय शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि सभी महत्वाकांक्षी योजनाएं कोरोना वायरस महामारी के बाद जीवनशैली में आए बदलाव पर निर्भर हैं।

RBL बैंक को निवेशकों का भरोसा जीतने के लिए अपनी लोन बुक और लीडरशिप से जुड़ी चिंताओं को करना होगा दूर

नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक बनाने वाली टाटा ग्रुप की वैल्यूएशन 100 अरब डॉलर से अधिक है और इस ग्रुप में आठ लाख से अधिक कर्मचारी हैं। नए साल के अवसर पर कर्मचारियों से संबोधन में चंद्रशेखरन ने कहा कि व्यवसायों और समाज को कोरोना महामारी के अनुसार तैयारी करनी चाहिए। बीते साल पर विचार करते हुए उन्होंने कहा कि ग्रुप, “अधिक सरल और आर्थिक रूप से मजबूत हो रहा है।”

चंद्रशेखरन ने कहा, “हमने नई तकीनकों के इस्तेमाल से अपने कार्बन उत्सर्जन को कम करने के मोर्चे पर अच्छा काम किया है। इस साल हमारी सबसे बड़ी उपलब्धि एयर इंडिया को हासिल करने के लिए हमारी बोली को मिली सफलता है। यह वास्तव में एक ऐतिहासिक क्षण है।”

उन्होंने आगे के सफर पर कहा, “भविष्य में हमारी रणनीति में चार विषय हैं- डिजिटल, न्यू एनर्जी, जुझारू सप्लाई चेन और हेल्थकेयर। हमारी कंपनियां पहले से ही इन बदलावों को अपना रही हैं, और हम एक मजबूत प्रदर्शन देख रहे हैं।”

चंद्रशेखरन ने कहा कि टाटा ग्रुप 2024 तक 3,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की देश की महत्वाकांक्षाओं के साथ वृद्धि में अपनी भूमिका निभा सकता है। उन्होंने कहा कि भारत के बेहतर टीकाकरण कार्यक्रम से एक ‘सुरक्षा की दीवार’ बनी है। उन्होंने कहा कि अभी तक संक्रमण काफी हल्का है। “लेकिन हमें सावधान रहने की जरूरत है, हम कोई कोताही नहीं बरत सकते।”

यह भी पढ़े:  Indian Railway: रेलवे ने इन ट्रेनों का बढ़ाया किराया, चेक करें पूरी लिस्ट

Redirecting in 10 seconds

Close
close