वॉरेन बफे शेयर बाजार का जादूगर | Warren Buffett Biography Hindi

Warren Buffett In Hindi

“आप अगर उन चीजों को खरीदते हैं, जिनकी आपको बिलकुल जरूरत नहीं है, तो शीघ्र ही आपको उन चीजों को बेचना पड़ेगा जिनकी आपको सबसे जादा जरूरत है.” – Warren Buffett

जब भी दुनिया के सबसे अमीर आदमियों की बात होती है, वॉरेन बफेट का नाम जरूर लिया जाता है। वॉरेन बफेट निवेश की दुनिया के महान बादशाह एवं दुनिया के सबसे सफलतम बिजनेसमैन है। साधारण से परिवार में जन्मे वॉरेन बफेट आज बर्कशायर हैथवे के मालिक और विश्व के सबसे सफलतम शख्सियत में से एक है, जिन्हें इंवेस्टमेंट गुरु के रुप में भी जाना जाता हैं, उन्होंने अपनी मेहनत और लगन के बल पर आज सफलता के इस आयाम को छुआ है।

उनका संपूर्ण जीवन प्रेरणात्मक है। वॉरेन बफेट जी का काम के प्रति ईमानदारी और कार्य करने की क्षमता की आज मिसालें पेश की जाती हैं। वॉरेन बफेट दुनिया के सबसे सफलतम व्यापारिक निवेशक होने के साथ-साथ एक बेहद दयालु व्यक्ति भी हैं, जिन्होंने अपनी संपत्ति का करीब 85 फीसदी हिस्सा बिल गेट्स की बिल एंड मंलिडा गेट्स फाउंडेशन को दान कर दिया था और इसके साथ ही वे विश्व के सबसे बड़े दानी व्यक्ति बन गए था।

उनका मानना है कि, लाखों जिंदगी बचाने के लिए जो उन्होंने पैसा दान करना। उनके द्वारा उनकी  जिंदगी में किया गया सबसे समझदारी भरा निवेश है। तो आइए जानते हैं अमेरिका में जन्में दुनिया के सबसे महान निवेशक और अमीर शख्त वॉरेन बफेट के जीवन से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातों के बारे में-

शेयर बाजार का जादूगर वॉरेन बफे के जीवन प्रेरणादायक कहानी – Warren Buffett Biography in Hindi

वॉरेन बफेट की जीवनी एक नजर में – Warren Buffett Information in Hindi

पूरा नाम (Name) वॉरेन बफेट (Warren Buffett)
जन्म (Birthday) 30 अगस्त 1930, नेब्रास्‍का, ओमाहा, संयुक्त राज्य अमेरिका
पिता का नाम (Father Name) हावर्ड बफेट
माता (Mother Name)  लीला स्‍टॉल
पत्नी का नाम (Wife Name) सुसान थॉम्‍पसन, एस्ट्रिड मेंक्‍स
बच्चे (Childrens)  एलिस हावर्ड तथा पीटर

वॉरेन वफेट का जन्म, शिक्षा एवं शुरुआती जीवन – Warren Buffett History

दुनिया के सबसे महान और बेहतरीन निवेशक वॉरेन बफेट 30 अगस्त, 1930 को संयुक्त राज्य अमेरिका के ओमाहा के नेब्रास्का टाउन में जन्में थे। उनके पिता हावर्ड बफेट भी शेयर बाजार में एक निवेशक और सलाहकार के तौर पर काम करते थे। वहीं वॉरेन बफेट ने भी आगे चलकर अपना करियर शेयर बाजार में भी बनाने का फैसला लिया।

वहीं निवेश करने की कला वॉरेन बफेट को अपने पिता से विरासत में मिली थी। आपको बता दें कि वॉरेन वफेट को बचपन से बिजनेस और निवेश में काफी दिलचस्पी थी। महज 11 साल की उम्र में वे लोगों के घर-घर जाकर मैग्जीन बांटते थे, एवं कोका कोला आदि की बोटल बेचकर किसी तरह अपने जेब खर्च के लिए पैसा कमाते थे। यही नहीं उन्होंने पैसा कमाने के लिए अपने शुरुआती जीवन में अखबार और स्टाम्प आदि बेचने का भी काम किया है।

वॉरेन बफेट ने अपनी शुरुआती शिक्षा वॉशिंगटन डीसी के वुड्रो विल्सन हाई स्कूल से पूरी की। फिर इसके बाद उन्होंने पेन्सिल्वेनिया यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया और वहां सिर्फ उन्होंने दो साल तक पढ़ाई की। वॉरेन बफेट ने अपने ग्रेजुएशन की पढ़ाई ग्रेजुएशन नेब्रास्का लिंकन यूनिवर्सिटी से पूरी की और फिर बाद में वॉरेन बफेट ने हॉवर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ने के लिए एप्लाई किया जहां पर उनकी कम आयु होने की वजह से उनकी एडमिशन एप्लीकेशन को रद्द कर दिया गया।

वहीं शुरुआत से ही वॉरेन बफेट की रुचि शेयर और स्टॉक मार्केट में होने की वजह से उन्होंने कोलंबिया बिजनेस स्कूल से इकॉनोमिक्स में M.S की डिग्री हासिल की, जिससे उन्हें स्टॉक मार्केट की बारीकियां सीखने में मद्द मिली। वॉरेन बफेट की बेंजामिन ग्राहम से मुलाकात और शेयर बाजार की दुनिया में कदम रखना महान शेयर बाजार निवेशक एवं सलाहकार बेंजामिन ग्राहम से मुलाकात के बाद वॉरेन बफेट की जिंदगी पूरी तरह बदल गई।

वॉरेन बफेट ने उनसे ही शेयर बाजार के मूल गुणों को सीखा और फिर निवेश की दुनिया में अपना कदम रखा था। आपको बता दें कि जब 1943 ईसवी में वॉरेन बफेट महज 13 साल के थे, तभी से उन्होंने अपने बिजनेस की शुरुआत कर दी थी और तभी उन्होंने अपना पहला इनकम टैक्स रिटर्न भरा था।

कुछ उतार-चढ़ाव के बाद 1945 में वॉरेन बफेट ने एक पिन बॉल खरीदा था और एक सलून में इसे हिस्सेदारी के साथ रख दिया था। इसके कुछ दिनों बाद ही वे एक से बढ़कर एक पिन बॉल के मालिक बन गए।

कई असफलाओं के बाद मिली सफलता:

ऐसा नहीं ही वॉरेन बफेट बिना संघर्ष के ही आज दुनिया के सबसे अमीर शख्सियत बन चुके हैं, बल्कि उन्हें इस मुकाम तक पहुंचने के लिए अपनी जिंदगी में तमाम असफलताओं का भी सामना करना पड़ा। आपको बता दें कि जब वॉरेन बफेट ने अपने शुरुआती निवेश में एक गैस स्टेशन खरीदा थे, जिसमें उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ा था।

वॉरेन बफेट का व्यापारिक सफर – Warren Buffett Career

वॉरेन बफेट ने महान निवेशक बेंजामिन ग्राहम से निवेश के गुण और कला को सीखा था। वहीं उनसे मुलाकात के बाद बेंजामिन ग्राहम ने उन्हें अपनी फर्म में नौकरी के लिए रखा था। उस दौरान उन्हें 12 हजार डॉलर की पगार मिलती थी। इस नौकरी के दौरान ही वॉरेन बफेट ने शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव को समझने के साथ इसमें इस्तेमाल किए जाने वाले तरीकों को विकिसत करने का मौका मिला।

वहीं वॉरेन बफेट के कंपनी ज्वॉइन करने के करीब 2 साल बाद बेंजामिन ग्राहम रिटायर हो गए। जिसके बाद वॉरेन बफेट ने बफेट पार्टनरशिप लिमिटेड के नाम से निवेश फर्म बनाई। वहीं इस फर्म से वॉरेन ने जो भी कमाया उससे अपना पहला घर खरीदा। जहां वह वर्तमान में रहते हैं।

इस घर को उस समय उन्होंने करीब 31 हजार, 500 डॉलर में खरीदा था। वहीं इसके बाद वॉरेन बफेट लगातार सफलता के नई ऊंचाइयों को छुते रहे और उन्होंने फिर कभी अपने करियर में पीछे मुड़कर नहीं देखा। 1962 में उनकी कंपनी के शेयर्स की नेटवर्थ 7 करोड़. 17 लाख डॉलर थी, जिसमें से 10 लाख, 25 हजार से ज्यादा की रकम सिर्फ वॉरेन बफेट की ही थी। इसके करीब तीन साल बाद 1965 में उन्होंने शेयर कंपनी बर्कशायर हैथवे की कमान अपने हाथों में ले ली थी। उनके नेतृत्व में इस कंपनी ने काफी कामयाबी हासिल की।

हालांकि इससे पहले यह कंपनी काफी बुरे वक्त से गुजर रही थी और लगभग डूबने के कगार पर थी। वॉरेन बफेट ने अपनी समझदारी और कार्य करने के उचित कौशल से इस कंपनी को फिर से संभाला और कामयाबी के एक नए मुकाम पर लाकर खड़ा किया।

इसके बाद साल 1970 में वॉरेन बफेट के नेतृत्व में यह कंपनी काफी प्रॉफिट देने लगी। इसके बाद 1979 में, जब वे 49 साल के थे, तब उनका पहली बार नाम फॉर्ब्स की लिस्ट में विश्व के सबसे अमीर लोगों में आया था। फिर साल 2008 में वॉरेन बफेट को दुनिया के सबसे अमीर आदमी होने का गर्व हासिल हुआ। वहीं इसके बाद 75 साल की उम्र में वॉरेन बफेट ने रिटायरमेंट की घोषणा की और विश्व के सबसे बड़े दानी व्यक्ति के रुप में खुद को स्थापित किया। दऱअसल, इस दौरान उन्होंने अपनी निजी संपत्ति का काफी बड़ा हिस्सा बिल गेट्स के मिलिंडा फाउंडेशन के नाम कर दिया था।

बॉरेन वफेट का विवाह एवं निजी जीवन – Warren Buffett Married

साल 1952 में जब वॉरेन वफेट 22 साल के थे, उस दौरान उन्हें सुसान थॉम्पसन नाम की महिला से प्यार हो गया था, जिनसे उन्होंने शादी कर ली थी। शादी के बाद दोनों को तीन बच्चे पैदा हुए जिनके नाम सुसन एलिस, पीटर और हावर्ड है। साल 1977 से  वॉरेन बफेट और उनकी पत्नी सुसान अलग हो गए थे। वहीं साल 2006 में वॉरेन बफेट ने अपने 76वें जन्मदिन पर अपनी दोस्त ऐस्ट्रिड मेंक्स के साथ शादी कर ली थी।

आपको बता दें कि वे अपने पत्नी सुसान के छोड़कर जाने के बाद से ऐस्ट्रिड के साथ ही रह रहे थे। वहीं दिलचस्प बात यह है कि इन दोनों की दोस्ती उनकी पहली पत्नी सुसान ने ही करवाई थी। इसके अलावा वॉरेन बफेट को ब्रिज खेलने का भी काफी शौक है। यह एक ताश का प्रसिद्ध गेम है। वे कई घंटे इस गेम को खेलने में व्यतीत करते हैं। वे बिल गेट्स और पॉल एलन के साथ इस खेल को खेलते थे।

यही नहीं वॉरेन बफेट अपनी सादगी और उच्च विचारों के लिए भी काफी मशहूर हैं। वहीं आप दुनिया के अमीर शख्सयित की सादगी का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि वे आज भी अपने बर्थप्लेस ओमाहा में अपने एक छोटे से घर में रहते हैं।

दुनिया के सबसे महान निवेशक वॉरेन बफेट का सादगीपूर्ण जीवन हर किसी के लिए प्रेरणादायक है, इस तरह से उन्होंने खुद को स्टॉक मार्केट से दुनिया के सबसे अमीर शख्स के रुप में स्थापित किया, वो वाकई काबिले-ए-तारीफ हैं।

वहीं उनकी दयालुता और महानता से हर किसी को सीख लेने की जरूरत है। इसके साथ ही वॉरेन बफेट के द्धारा कहे गए महान विचारों को भी अपनी जिंदगी में अमल करने की जरूरत है।

वॉरेन बफेट के महान विचार – Warren Buffett Quotes

  • हमेशा ही लंबी अवधि के लिए निवेश करें।।
  • खर्च करने के बाद जो भी बचा है, उसे जरूर बचाएं, लेकिन बचत के बाद जो बचा है उसे खर्च करें।
  • एक ही आय पर कभी निर्भर न करें, हमेशा दूसरा स्त्रोत बनाने के लिए निवेश करें।।
  • कीमत वह होती है, जो कि आप भुगतान करते हैं, जबकि मूल्य वह है, जो कि आप पाते हैं।
  • वास्तव में जोखिम तब होता है, जब आपको पता नहीं हो कि आप क्या कर रहे हैं।।
  • समय हमेशा ही अच्छी कंपनियों का दोस्त होता है, जबकि मीडियम एवं औसत दर्ज की कंपनी का दुश्मन।।

वॉरेन बफेट के कुछ बेहतरीन टिप्स – Excellent Tips by Warren Buffett in Hindi

  • “कमाई : कभी भी अकेली आय पर निर्भर न रहे। आय का दूसरा साधन बनाने के लिये निवेश करे।”
  • “सफलता : जब मौके आते है तभी आप कोई काम करते हो। मेरे जीवन में एक ऐसा पल भी आया था जब मेरे पास उपायों का गठरा पड़ा था। लेकिन यदि मुझे अगले हफ्ते कोई उपाय आता है तो ही मै कुछ कर पाउँगा अन्यथा मै कुछ नही कर पाउँगा।”
  • “खर्च : यदि आपको जिसकी जरुरत नही है वो चीज़े आप खरीद रहे हो तो एक दिन आपको जिन चीजो की जरुरत है उस चीजो को बेचना पड़ेगा।”
  • “सेविंग : खर्च करने के बाद जो बचे उसे सेव न करे लेकिन सेव करने के बाद जो बचा उसे खर्च अवश्य करे.”
  • “जोखिम: कभी भी नदी की गहराई को दो पैरो से नही नापना चाहिये।”
  • “निवेश: कभी भी अपने सारे अन्डो को एक ही बास्केट में न डाले।”
  • “उम्मीद: इमानदारी सबसे महंगा तोहफा है. छोटे लोगो से इसकी उम्मीद ना करे।”
  • “इंसानियत: यदि आप इंसानियत के 1% लकी लोगो में भी शामिल हो, तो आप 99% लोगो को इंसानियत सिखा सकते हो।”

अगर आपको वॉरेन बफे के के और भी Excellent Tips जानना चाहते हैं तो Warren Buffett Investing Tips यह हमारा आर्टिकल जरुर पढ़े।

Read More:

  • शेयर बाजार का बादशाह राकेश झुनझुनवाला
  • Nirmal Jain Biography

I hope you find this post about ”Warren Buffett” inspiring. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp.

यह भी पढ़े:  एक्टर अनुपम खैर की जीवनी | Anupam Kher biography in Hindi
close