श्री शाकंभरी माता की यह दिव्य स्तुति देती है धन-धान्य, समृद्धि और हरियाली का वरदान

मां ब्रह्माणी नमो नमः
हे रुद्राणी नमो नमः
सकराय वासिनी नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
मात शताक्षी नमो नमः
दुर्गम विनाशी नमो नमः
हे सुख-राशि नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
संकट हारिणि नमो नमः
कष्ट निवारिणी नमो नमः
मां भव तारिणी नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते

हे जग जननी नमो नमः
कामना पूर्णि नमो नमः
सौम्य रूपणी नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
हे परमेश्वरी नमो नमः
त्रिपुर सुंदरी नमो नमः
हे विश्वेश्वरि नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
दुर्गा रूपेण नमो नमः
लक्ष्मी रूपेण नमो नमः
विद्या रूपेण नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
भुवन वंदिनी नमो नमः
द्वारा निकन्दनी नमो नमः
सिंह वाहिनी नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
शक्ति-स्वरूपा नमो नमः
हे भव-भूपा नमो नमः
अनन्त अनूपा नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
अति सुख दायिनी नमो नमः
करुणा नयनी नमो नमः
हे वर दायनी नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
मंगल करनी नमो नमः
अमंगल हरणी नमो नमः
अभया वरणी नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
सुर धाम निवासिनी नमो नमः
हे अविलासिनी नमो नमः
दैत्य विनाशिनी नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
शैल पुत्री नमो नमः
ब्रह्म-चारिणी नमो नमः
चन्द्रघंटा नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
मां कुष्मांडा नमो नमः
स्कन्द माता नमो नमः
हे कात्यायिनी नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
कालरात्रि नमो नमः
हे महागौरी नमो नमः
सिद्धिदात्री नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
हे करुणामयी नमो नमः
हे ममतामयी नमो नमः
भक्त-वत्सला नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते
मां ब्रह्माणी नमो नमः
हे रुद्राणी नमो नमः
सकराय वासिनी नमो नमः
शाकंभरी मां नमोस्तुते

यह भी पढ़े:  श्री पार्वती माता जी की आरती