सेंसेक्स क्या होता है(What is Sensex in Hindi) और इसकी गणना कैसे की जाती है?

भारत में सेंसेक्स(Sensex) सबसे प्रमुख बाजार सूचकांकों(indices) में से एक है हम News/TV/Radio में सुनते/देखते हैं कि सेंसेक्स की रेटिंग ऊपर चली गयी है या नीचे चली गयी है. लेकिन वास्तव में सेंसेक्स क्या होता है?(What is Sensex in Hindi), इसका गठन(constitutes) किस प्रकार किया जाता है?, इसकी गणना कैसे की जाती है? बहुत से लोगों को पता नहीं होता इसलिए हम इस Article में इसके बारे में चर्चा करेंगे.

sensex kya hota hai hindi

सेंसेक्स क्या होता है(What is Sensex in Hindi)

लोग खुश होते हैं जब सेंसेक्स में बढ़ोतरी होती है, और जब यह नीचे जाता है तो लोग परेशान हो जाते है. तो चलिए जानते है आखिर ये बला है क्या.

सेंसेक्स(SENSEX) संवेदनशील सूचकांक(Sensitive Index) का संक्षिप्त रूप है इसे BSE-30 के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि यह Bombay Stock Exchange (BSE) की शीर्ष 30 कंपनियों का प्रतिनिधित्व(represent) करता है. ये 30 कंपनियां विभिन्न क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करती हैं और उन विभिन्न मापदंडों के आधार पर चुनी जाती हैं जिनमें बाजार पूंजीकरण(market capitalization) को महत्वपूर्ण महत्व दिया जाता है. वर्तमान में सेंसेक्स में बजाज ऑटो, कोल इंडिया, एचडीएफसी बैंक, टीसीएस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, मारुति आदि जैसी कंपनियां हैं.

इसे पहली बार 1 जनवरी 1986 को संकलित(compile) किया गया था और इसे “मार्केट-कैपिटलाइज़ेशन भारित(Market-Capitalization weighted)” पद्धति के आधार पर लिया गया था. 1 सितंबर 2003 से, सेंसेक्स की फ्री-फ्लोट मार्केट कैपिटलाइज़ेशनfree-float market capitalization) पद्धति पर गणना की जाती है, जिस पर अधिकांश वैश्विक इंडेक्स(global indices) आधारित होते हैं जैसे डॉव जोन्स, एफटीएसई इत्यादि.

इन्हें भी पढ़े: Share Market क्या है? Share Market में पैसा कैसे निवेश करे?

सेंसेक्स का मतलब(Sensex Meaning in Hindi)

यह 30 कंपनियों के बाजार भारित शेयर सूचकांक(market weighted stock index) होता है जो वित्तीय सुदृढ़ता(financial soundness) और प्रदर्शन(performance) के आधार पर चुने गए हैं. आमतौर पर, बड़े और अच्छी तरह से स्थापित कंपनियां, जो विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों के प्रतिनिधि होते हैं, को चुना जाता है.

सेंसेक्स इंडिया के तहत कंपनियां(Companies in Sensex India)

अदानी पोर्ट्स कोल इंडिया एचयूएल एम एंड एम स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
एशियाई पेंट्स डॉ रेड्डीज़ लैब्स आईसीआईसीआई बैंक मारुति सुजुकी सन फार्मा
ऐक्सिस बैंक गेल इंफोसिस एनटीपीसी टाटा मोटर्स
बजाज ऑटो एचडीएफसी आईटीसी ओएनजीसी टाटा इस्पात
भारती एयरटेल एचडीएफसी बैंक लार्सन पावर ग्रिड टीसीएस
सिप्ला हीरो मोटोकॉर्प लुपिन Reliance विप्रो

यह पहली बार 1986 में प्रकाशित(Publish) हुआ था. सेंसेक्स का आधार मूल्य 100 है और आधार वर्ष(base year) 1978-79 है.

आइए हम कुछ संख्याओं को देखें.

  • सेंसेक्स में शेयरों की संख्या – 30
  • 15 मार्च, 2017 तक, सेंसेक्स के पूर्ण बाजार का पूंजीकरण 4,986,299 करोड़ रुपए था और नि: शुल्क फ्लोट मार्केट कैपिटलाइजेशन 2,687,777 करोड़ रु. था.

शुरवाती वर्षों से सेंसेक्स ने कैसे प्रदर्शन किया ?

यहां एक ग्राफ(graph) है जो शुरुआत के बाद से सेंसेक्स के मूल्य को दिखाता है –

sensex chart hindi

Historical Data(ऐतिहासिक आंकड़ा )

सेंसेक्स की गणना कैसे की जाती है(How Sensex is calculated In Hindi)

सेंसेक्स की गणना फ्री फ्लोट बाजार पूंजीकरण पद्धति(Free-float Market Capitalization method) का उपयोग करके किया जाता है. इस पद्धति में, सूचकांक base period के मुताबिक 30 constituent शेयरों के फ्री-फ्लोट बाजार मूल्य को दर्शाता है.

फ्री फ्लोट मार्केट कैपिटलाइज़ेशन(free float market capitalization) से क्या मतलब है?

नि: शुल्क फ्लोट उन शेयरों के लिए है जो trading के लिए खुले होते हैं. सभी शेयर फ्री फ्लोटिंग नहीं हो सकते. कुछ गिरवी हो सकते हैं, कुछ हितों/प्रवर्तकों को नियंत्रित करने वाले व्यक्तियों या निकायों के हाथ में हो सकते हैं, कुछ शेयर सरकारी होल्डिंग्स हो सकते हैं, etc. ऐसे लॉक-इन(locked-in) शेयरों को फ्री फ्लोटिंग नहीं माना जाता है.

बाजार पूंजीकरण(Market capitalization) क्या है?

मार्केट कैपिटलाइजेशन स्टॉक एक्सचेंज(stock exchange) में विभिन्न कंपनियों के सभी शेयरों का संयुक्त मूल्य है.

कंपनी का बाजार पूंजीकरण(Market capitalization) कंपनी के शेयरों की कीमत और कंपनी द्वारा जारी किए गए शेयरों की संख्या के आधार पर होता  है.

नि: शुल्क-फ्लोट मार्केट कैपिटलाइजेशन(free-float market capitalization) को निर्धारित करने के लिए इस आंकड़े को फ्री फ्लोट कारक से गुणा किया जाता है. हर कंपनी को बीएसई द्वारा दिए गए प्रारूप में त्रैमासिक आधार पर सूचना देना होता है.

नि: शुल्क फ्लोट मार्केट कैपिटलाइजेशन को सेंसेक्स मूल्य प्राप्त करने के लिए index divisor द्वारा विभाजित किया जाता है. यह विभाजक स्टॉक और अन्य कॉर्पोरेट कार्यों में परिवर्तनों के लिए समायोजित करता है. विभाजक आधार वर्ष में सेंसेक्स सूचकांक का मूल्य होता है.

इन्हें भी पढ़े: Top 10 Best Online Trading Sites or Companies In Hindi

Sensex कैसे काम करता है – Example

मान लीजिए सूचकांक(index) की दो कंपनियां हैं – एक्स(X) और वाई(Y).

कंपनी एक्स(X) के पास 500 शेयर हैं, जिनमें से 300 फ्री फ्लोटिंग हैं या आम जनता को खरीदने और बेचने के लिए उपलब्ध हैं. प्रत्येक शेयर की कीमत 80 रुपये है.

कंपनी वाई(Y) के 1000 शेयर हैं जिनमें से 700 फ्री फ्लोटिंग हैं. प्रत्येक शेयर की कीमत 100 रु है.

कंपनी एक्स(X) की बाजार पूंजी = 40000

कंपनी वाई(Y) की बाजार पूंजी = 100000

कंपनी एक्स(X) के लिए निशुल्क फ्लोट फैक्टर = 0.60

कंपनी वाई(Y) के लिए नि: शुल्क फ्लोट फैक्टर = 0.70

सूचकांक का कुल नि: शुल्क फ्लोट मार्केट कैपिटल = (40000 * 0.60) + (100000 * 0.70) = 94000

मान लीजिए कि आधार वर्ष(base year) इंडेक्स 5000 था.

सूचकांक का मान = (94000 x 100) / 5000 = 1880

तो सूचकांक का मान 1880 होगा.

पिछले 10 वर्षों में सेंसेक्स के High और Low अंक क्या रहे हैं?

दुनिया भर में विभिन्न राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक कारकों से बाजार प्रभावित हुआ है. 2008 में सेंसेक्स सबसे कम अंक तक पहुंचा था, जब अमेरिका के शेयर बाजारों में क्रैश होने लगी थी और यू.एस. में बड़ी गिरावट आई थी.

सेंसेक्स में 2015 में भी एक बड़ी गिरावट आई थी.

सेंसेक्स अगस्त 2015 और मार्च 2017 में अपने उच्चतम अंक पर पहुंचा था.

मैं अपने निवेश के लिए SENSEX का कैसे उपयोग करूं?

  • आप बढ़ते मूल्य का लाभ उठाने के लिए सेंसेक्स आधारित निधि में निवेश कर सकते हैं.
  • यदि बाजार में उतार-चढ़ाव होता है, तो सेंसेक्स विभिन्न मूल्यों में झूल(swing) रहा होता है, तो सूचकांक में अस्थिरता कम होने की प्रतीक्षा करना बेहतर है. ( बेहतर है आप SIP के माध्यम से निवेश करें)
  • सेंसेक्स में स्टॉक वित्तीय शब्द है, उनमें से ज्यादातर blue chip कंपनियां हैं आप इक्विटी फंड में निवेश कर सकते हैं जो इन शेयरों में निवेश करते हैं.
  • यह एक संकेतक(indicator) के रूप में कार्य करता है कि अर्थव्यवस्था कैसा काम कर रही है और कैसे कंपनियां प्रदर्शन कर रही हैं इससे आपके वित्त में विवेकपूर्ण निर्णय लेने में मदद मिलेगी.

इन्हें भी पढ़े: Affiliate Marketing से Online पैसे कैसे कमाए ? पूरी जानकारी

सेंसेक्स विडियो(SENSEX Video In Hindi)

यहाँ पर हमने सेंसेक्स से Related एक विडियो share किया है, अधिक जानकारी के लिए आप इसे भी देख सकते है.

हमें आशा है कि Sensex क्या होता है(What is Sensex in Hindi)? इसकी गणना कैसे की जाती है? इस Article के माध्यम से आपको सेंसेक्स से जुड़े प्रश्नों का उत्तर मिल गया होगा, यदि आपके पास अभी भी कोई सवाल है तो आप comment के माध्यम से हमसे पूछ सकते है. और यह article आपको अच्छा लगा हो तो share जरुर करे.

यह भी पढ़े:  Fashion Designer कैसे बनें पूरी जानकारी - Fashion Designer In Hindi
close