Artificial Intelligence (AI) क्या है? पूरी जानकारी

Hello Friends, आप लोगो ने Artificial Intelligence(AI) के बारे में तो सुना होगा. अगर आपने नहीं सुना या इसके बारे में नहीं पता तो आज मैं आपको Artificial Intelligence(AI) के बारे में ही बताने वाला हूँ. यह term Computer Science & Technology से related है.

artificial intelligence hindi

जो भी Robot, Automatic Machine etc. में जीस Technology का use होता है वो Artificial Intelligence(AI) ही होता है.

अगर सिर्फ इस word का मतलब Hindi में समझे तो Artificial का मतलब “कृत्रिम” यानि की आदमी के द्वारा बनाया हुआ. और Intelligence का मतलब “बुधिमत्ता” यानि की सोचने की शक्ति होती है.

दोस्तों ! ये जो Intelligence Power होती है वो हम मनुष्य के अंदर अपने आप बढ़ती है. कुछ देख कर, कुछ सुन कर, कुछ touch करके हम यह सोच लेते हैं की उस चीज़ के साथ कैसा behave करना चाहिए.ठीक इसी तरह से Robot के अंदर भी एक तरह का Intelligence Develop कराया जाता है. जिसको Artificial Intelligence(AI) कहते हैं.

अब Artificial Intelligence(AI) एक बहुत बड़ा topic है. इसमें daily कुछ न कुछ research हो रहे हैं. आपने Robot Movie भी देखी होगी. जो कुछ इस तरह के researches में based थी.

अब आपके मन में कुछ सवाल आ रहे होंगे जैसे की Artificial Intelligence(AI) में आगे क्या होने वाला है. Artificial Intelligence(AI) का future बुरा होगा की अच्छा होगा.

Friends Artificial Intelligence(AI) एक ऐसी Intelligence है,जो अपने आप से Artificial create हो जाये या फिर आपके Computer में इंसानो जैसा दिमाग आ जाये तो इसे हम कहेंगे Artificial Intelligence(AI).

Artificial Intelligence(AI) किसी एक तरह की नहीं है बल्कि यह बहुत से तरह से use होती है, बहुत सारे ऐसे Artificial Intelligence(AI) है जिन्हें हम बहुत पहले से use करते आ रहे है और बहुत सी तो अभी future में आएँगी.

आइये जानते है की यह Artificial Intelligence(AI) कितने तरीको का होता है.

कृत्रिम बुद्धिमत्ता(AI) के प्रकार – Types Of  Artificial Intelligence

Friends Artificial Intelligence को AI भी कहते है और इसे 3 भागो में divide किया गया है.

#1: Weak AI (कमजोर कृत्रिम बुद्धिमत्ता)

Friends, अगर हम बात करे Weak AI की तो इसको हम कहेंगे Artificial Narrow Intelligence. Weak AI कुछ इस तरह के intelligence है जो केवल एक specific device में ही अच्छे से काम कर सकती है.

For example: अगर आपका Computer Chess game खेलता है तो वो chess खेलने में expert है but उसके अलावा वह weak AI कुछ और नहीं कर सकता है.या फिर मैं बात कर Amazon, Flipkart जैसे Shopping Sites में जो recommendation नीचे आते है, अगर आप कुछ खरीदते है तो पर ये system expert है अपना काम करने के लिए है. But ये chess game नहीं खेल सकता है. तो ऐसे Intelligence जो केवल एक Specific Area में काम कर सकते है उसे हम कहते है Artificial Narrow Intelligence.

Friends, अब आप को समझ में आ गया होगा की Weak AI क्या होता है, कैसे काम करता है और यह क्यों एक ही device में केवल एक काम कर सकता है.

#2: Strong AI (शक्तिशाली कृत्रिम बुद्धिमत्ता)

Friends, अगर हम बात करे इंसान के दिमाग का तो ये बहुत complicated है, इंसान के pass बहुत ज्यादा Common Sense है या फिर कहे की ऐसी Intelligence है जो एक machine में शायद नहीं आ सकती है.तो Machine को कुछ इंसान के दिमाग जैसा बनाने के लिए आती है Strong AI जिसे हम Artificial General Intelligence भी कहते है.

Friends, Strong AI ऐसा system है जहाँ पर इंसान का दिमाग और Machine दोनों लगभग बराबर होता है. यानि की जो काम आप कर सकते है, आप जो सोच सकते है और ऐसी बहुत सी common चीज़े है जो हम इंसान आराम से कर लेते है. अगर वो सब काम एक Robot या machine कर पाए तो उसे हम कहेंगे Strong AI या Artificial Wide Intelligence.

#3: Singularity (विलक्षणता)

Friends, Strong AI का use अभी तक नहीं होता है. ये शायद 2050 तक Market में आ जायेगी तब आपको ऐसे machine, ऐसे Robot देखने को मिलेंगे जिनका intelligence level इंसान के बराबर होगा.

Friends, अगर आप सोच रहे है की इसके आगे कुछ नहीं है तो आप बिलकुल गलत सोच रहे है क्योकि ये Artificial Intelligence(AI) है. अगर एक बार एक Machine ने कुछ learn कर लिया तो उसे और improve करता रहेगा.

For Example: अगर हमारे पास कुछ computer है तो मिल कर और अच्छा Computer बनाएंगे और जो computer बनेगे उनको मिलाकर और अच्छा computer बनाएंगे, तो ऐसे में ये जो AI है ये और ज्यादा exponential level(घातीय स्तर) तक बढ़ते जायेंगे तो ऐसे में एक चीज़ निकल कर आएगी जिसे हम कहेंगे Singularity या Artificial Super Intelligence.

अगर हम general में कहे तो Singularity ऐसी intelligence है जिसके आगे इंसान कुछ भी नहीं है. मतलब अगर एक बार ये इंसान के दिमाग के level में आ गया  तो बढ़ते -बढ़ते उससे कही आगे निकल जायेगा.

Friends, ऐसे में देखा जाये तो ये बहुत अच्छी बात है, हम बहुत अच्छे से control करेंगे चीज़ों को, हम नए -नए experiment करेंगे और हमारे पास बहुत powerful Robot रहेंगे तो उनकी help से हम बहुत कुछ कर पाएंगे.

But दोस्तों ! अगर Machine Super Intelligence हो गया तो क्या Robot हमारी बात मानेगे, इस बात का लेकर दुनिया के बहुत से Computer Scientist even Bill Gates, Allen Musk ने ये doubt रखे है की अगर machine और इंसान के दिमाग में Singularity हो गयी तो दुनिया खतरे में आ जाएगी.

But अगर Super Intelligence का time आया और Machine इंसान के सारे rule को सही -सही fallow करने लगे तो इसे हम कहेंगे Artificial Emotional Intelligence. मतलब मशीनों के पास emotion होगा जिससे वह इंसान के control में रहे.

तो दोस्तों ! अब आप को समझ आ गया होगा की Artificial Intelligence(AI) क्या होता है और ये आगे कहा तक जा सकता है. आप अपने विचार और प्रतिक्रिया को हमें comment करके बता सकते है.

Special thanks for Satish Kushwaha from http://www.techyukti.com/ जिनके blog से मैंने यह article reference लिया है.

यह भी पढ़े:  Sundar Pichai के बारे में 10 महत्वपूर्ण बातें हिंदी में
close