Bank strike: प्राइवेटाइजेशन के विरोध में आज भी रहेगी 9 लाख बैंक कर्मचारियों की हड़ताल, चेक क्लीयरेंस, फंड ट्रांसफर में होगी दिक्कत

प्राइवेटाइजेशन को लेकर सरकार की योजना के विरोध में बैंक यूनियन आज 17 दिसंबर को भी हड़ताल कर रही है

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्राइवेटाइजेशन को लेकर सरकार की योजना के विरोध में बैंक यूनियन आज 17 दिसंबर को भी हड़ताल कर रही है। बैंक हड़ताल का असर SBI, PNB, सेंट्रल बैंक और RBL बैंक के कामकाज पर पड़ सकता है। चेक क्लीयरेंस, फंड ट्रांसफर, डेबिट कार्ड से जुड़े काम आज और कल दोनों दिन अटक सकते हैं।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (State Bank of India -SBI) के बाद, तीन और बैंकों, पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank – PNB) सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank of India) और आरबीएल बैंक (RBL Bank) ने कहा था कि बैंक हड़ताल की वजह से उनके कामकाज पर असर पड़ेगा।

आज भी है हड़ताल

बैंक कर्मचारियों की  आज शुक्रवार 17 दिसंबर को भी हड़ताल है। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन (UFBU) बैंकों के प्राइवेटाइजेशन का विरोध कर रहा है और इसी विरोध प्रदर्शन के लिए वह दो दिन की हड़ताल कर रहे हैं। अखिल भारतीय बैंक अधिकारी परिसंघ (AIBOC) के महासचिव संजय दास ने कहा कि PSB के निजीकरण से अर्थव्यवस्था के प्रॉयोरिटी सेक्टर को नुकसान होगा। इसके अलावा ग्रामीण अर्थव्यवस्था में क्रेडिट फ्लो और सेल्फ हेल्प ग्रुप को नुकसान होगा।

भारतीय बैंक संघ (IBA) द्वारा सूचित किया गया है कि यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (UFBU) ने हड़ताल का नोटिस दिया है, यह सूचित करते हुए कि UBFU के यूनियन के अन्य सदस्य यूनियन जैसे AIBEA, AIBOC,  NCBE, AIBOA, BEFI, INBEF और INBOC एनसीबीई, एआईबीओए, BEFI, INBEF और INBOC ने अपनी मांगों के समर्थन में देशव्यापी बैंक हड़ताल पर जाने का प्रस्ताव रखा है।

यह भी पढ़े:  Fino Payments Bank IPO: पहले दिन अब तक 37% तक सब्सक्राइब हुआ इश्यू, रिटेल पोर्शन 2 गुना भरा
close