{Best 2021} राजनीति में जलाने वाली शायरी और स्टेटस

राजनीति में जलाने वाली शायरी और स्टेटस: इस पोस्ट में राजनीती पर शायरी लिखी गयी है, जिसमें राजनीति में जलाने वाली शायरी और सियासत शायरी इन हिंदी में आपके साथ साझा लो गयी है !

राजनीति में जलाने वाली शायरी

जो #सच हैं, उसी के साथ #हम खड़े हैं,
इसीलिए हम #विपक्ष की #आँखों में गड़े हैं !

बड़ी #चालाकी से तुमने अपना #असली चेहरा छुपा रखा है.
अपने #झूठे वादों से, देश की भोली #जनता को #बेहला रखा है !

जो #भारत माँ की जय कहते #सकुचाते
जो #धर्मों को देश से ऊपर #बतलाते
#नमक देश का #खााते है
और #गुण दुश्मन के #गाते है
ऐसे #गद्दारों पर तो कुत्ते भी #शरमाते !

बहुत अच्छे से #तुम राजनीती का #खेल खेलते हो
हो #देश भक्त, ये बोल बोल के देश को #लूटते हो !

#बनेंगे सहारा #बे-सहारो के लिये,
#बनेंगे किनारा #बे-किनारो के लिये,
#अगर जीये अपने लिये तो #क्या जीये,
#जी सके तो जियेंगे हम #हज़ारो के लिये !

Also Read: दुश्मन को जलाने वाली शायरी

राजनीति-में-जलाने-वाली-शायरी (1)

सियासत शायरी इन हिंदी

#सियासत के रंग में ना #डूबो इतना कि
#वीरों की शहादत भी तुम्हें #नजर ना आए,
जरा #याद भी कर लो अपने #वायदे जुबान को,
अगर अपनी #जुबां का कहा तुम्हें #याद आ जाए !

#कीमत तो खूब #बड़ी, दिल्ली के #धान की,
फिर भी #विदा ना हो सकी, #बेटी गरीब #किसान की !

#केजरीवाल की खांसी में #जंग है
#दिल्ली हमारी खांसी के #संग है
#दिल्ली में #प्रदुषण के कितने #रंग है
यही #केजरीवाल के #जीतने का #ढंग है !

हमको राजनीती की #सीख देने वाले,
हमने तेरा असली #चेहरा देखा है
तू इतना #दिखावा ना कर अपनी #ईमानदारी का
हमने कुछ #कहने से पहले अपने #गिरेबां में देखा है !

यह भी पढ़े:  {#2021} पिता बनने की ख़ुशी शायरी – पिता बनने का एहसास शायरी

#दोस्ती हो या #दुश्मनी सलामी दूर से ही #अच्छी लगती हैं,
राजनीति में कोई #सगा नही, ये बात भी #सच्ची लगती हैं !

Also Read: मुँह तोड़ जवाब देने वाली शायरी

राजनीति-में-जलाने-वाली-शायरी (2)

राजनीति शायरी इन हिंदी ऐटिटूड

सभी नेता एक #जैसा ही कहते हैं, बस #मतलब बदल जाते हैं,
#शियासत वैसे ही चलती हैं, #वजीर-ए-आजम बदल जाते हैं !

#मुर्दा लोहे को अपना #औजार बनाने वाले,
अपने #आँसुओ को अपना #हथियार बनाने वाले,
हमें #पहचान न सके हैं तुम जैसे #सियासतदां
मगर #हम है ही यहाँ की #सरकार बनाने वाले !

#राजनीति में अब देश के #युवाओं को भी आना चाहिए,
देश की #सूरत बदलकर, नया #आईना दिखाना चाहिए !

ऐ #सियासत तूने भी इस दौर में क्या #कमाल कर दिया,
गरीबों को #गरीब और अमीरों को #माला-माल कर दिया !

#बुलंदी का नशा #सिमतों का #जादू तोड़ देती है,
#हवा उड़ते हुए #पंछी के भी #बाज़ू तोड़ देती है,
#सियासी #भेड़ियों थोड़ी बहुत #गैरत ज़रूरी है,
#तवायफ #किसी भी मौके पे #घुंघरू तोड़ देती है !

Also Read: ताने मारने वाली शायरी इन हिंदी