CMS Info System IPO: आज से खुला इश्यू, जानिए ग्रे मार्केट में क्या चल रहा भाव और क्या आपको लगाना चाहिए इसमें पैसा?

CMS Info Systems IPO पूरी तरह ऑफर-फॉर-सेल है और इसके लिए 205 से 216 रुपये का प्राइस बैंड तय किया गया है

CMS Info System IPO: CMS इंफो सिस्टम्स लिमिटेड का इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) मंगलवार 21 दिसंबर से खुल रहा है और इसके लिए 23 दिसंबर तक बोली लगाई जा सकती है। आईपीओ का साइज 1,100 करोड़ रुपये है, जिसके तहत कंपनी 5.09 करोड़ शेयर को 205 से 216 रुपये के प्राइस बैंड पर जारी कर रही है। यह आईपीओ पूरी तरह से ऑफर-फॉर-सेल (OFS) है, जिसका मतलब है कि इससे मिलने वाला सारा पैसा प्रमोटर के पास जाएगा और कंपनी को इससे कोई रकम नहीं मिलेगी।

क्या करें निवेशक?

पिछले तीन साल में कंपनी के प्रदर्शन को देखें तो पता चलेगा कि CMS Info Systems की आमदनी को फिस्कल ईयर 2021 में झटका लगा है। कंपनी की कुल आमदनी में 69% हिस्सेदारी कैश मैनेजमेंट सर्विस का है। फिस्कल ईयर 2021 में इस सर्विस से होने वाली आमदनी में 8% की गिरावट आई है। फिस्कल ईयर 2020 में यह 984.35 करोड़ रुपए था जो फिस्कल ईयर 2021 में घटकर 909.42 करोड़ रुपए रह गया है। फिस्कल ईयर 2019 में कंपनी के कार्ड सेगमेंट से होने वाली आमदनी 58.4 करोड़ रुपए थी जो इस फिस्कल ईयर में घटकर 45.86 करोड़ रुपए रह गई। वहीं दूसरी तरफ मैनेज्ड सर्विस वर्टिकल्स की ग्रोथ साल दर साल बढ़ रही है। फिस्कल ईयर 2021 में यह बढ़कर 364 करोड़ रुपए हो गई जो फिस्कल ईयर 2019 में 197.2 करोड़ रुपए थी।

Crypto Update: सिर्फ एक दिन में 10,889% बढ़ी इस क्रिप्टोकरेंसी की कीमत, जानिए Bitcoin सहित बाकी का क्या रहा हाल?

CMS Info Systems के प्राइस बैंड के हिसाब से इसका P/E 19.5 है। कंसोलिडेटिंग मार्केट में यह लीडिंग कंपनी है।

मार्केट के एक जानकार ने बताया, “CMS इंफो सिस्टम्स एक कंसॉलिडेटेड मार्केट की सबसे बड़ी कंपनी है। कंपनी के पिछले 3 सालों के वित्तीय प्रदर्शन से पता चलता है कि इससे पास मजबूत फंडामेंटल हैं। कंपनी की देश भर में उपस्थिति है और इसके कुछ बड़े क्लाइंट्स के साथ लंबे समय से रिश्ता है, जो आगे भी इसकी ग्रोथ में अहम योगदान देंगे। बैंकिंग और डिजिटल सेवाओं को ग्रामीण भारत तक पहुंचाने पर सरकार का जोर है और CMS इंफोसिस्टम को इससे फायदा मिल सकता है। कुल मिलाकर निवेशक इस IPO को लंबी अवधि के नजरिए से सोच सकते हैं।”

कंपनी के बिजनेस को देखते हुए ज्यादातर ब्रोकरेज हाउस ने इसके शेयर खरीदने की सलाह दी है। कंपनी का मजबूत प्रोडक्ट पोर्टफोलियो, इंटीग्रेटेड बिजनेस प्लेटफॉर्म, लंबे समय से चला आ रहा कस्टमर रिलेशनशिप और दमदार प्रोडक्टिविटी को देखते हुए इसके शेयर खरीदने की सलाह दी गई है।

एंकर इनवेस्टर्स से जुटाए 330 करोड़ रुपए

CMS Info Systems ने इश्यू खुलने से एक दिन पहले 20 दिसंबर को 12 एंकर इनवेस्टर्स से 330 करोड़ रुपए जुटा लिए हैं। कंपनी ने 216 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से एंकर इनवेस्टर्स को 1,52,77,777 इक्विटी शेयर अलॉट किए हैं।

कंपनी के एंकर इनवेस्टर्स में ICICI प्रूडेंशियल, नोमुरा इंडिया, SBI म्यूचुअल फंड, WF Asian Reconnaissance Fund, आदित्य बिड़ला सनलाइफ, गोल्डमैन सैक्स, SBI लाइफ इंश्योरेंस, Abakkus Emerging Opportunities Fund, Theleme India Master Fund और BNP पारिबा आर्बिट्राज शामिल हैं।

CMS इंफो सिस्टम्स के IPO को सब्सक्राइब करने से इससे जुड़ी खास बातें जान लेते हैं…

कंपनी क्या काम करती है?

CMS इंफो सिस्टम्स देश की सबसे बड़ी कैश मैनजमेंट कंपनी है। साथ ही दुनिया की कुछ सबसे बड़ी कैश मैनेजमेंट कंपनियों में से भी एक है। वित्त वर्ष 2020-21 में उसके एटीएम पॉइंट्स और रिटेल कैश मैनेजमेंट से कुल 9.2 लाख करोड़ रुपये की करंसी शामिल रही। कंपनी भारत में बैंकों, फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस, संगठित रिटेल और ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए आउटसोर्सिंग के आधार पर कैश मैनजमेंट, टेक्नोलॉजी से जुड़े सॉल्यूशंस मुहैया कराना और एसेट्स को लगाने और उनके रखरखाव से जुड़ी सभी सुविधाएं मुहैया कराती है।

कंपनी 3 सेगमेंट में बिजनेस ऑपरेट करती है- कैश मैनजमेंट सर्विस, मैनेज्ड सर्विस और कार्ड सर्विस। हालांकि कंपनी के बिजनेस का करीब दो तिहाई हिस्सा कैश मैनेजमेंट सर्विस से आता है। कंपनी के पास 3,965 कैश वैन और 238 ब्रांच व ऑफिस का नेटवर्क है।

कंपनी की वित्तीय स्थिति कैसी है?

अगर पिछले तीन वित्त वर्षों की बात करें तो CMS इंफो सिस्टम्स तीनों वित्त वर्ष में मुनाफे में थी। वित्त वर्ष 2019 में कंपनी को 96.14 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। वित्त वर्ष 2020 में यह मुनाफा 40.1 पर्सेंट बढ़कर 134.71 करोड़ रुपये हो गया। वहीं वित्त वर्ष 2021 कंपनी ने 168.54 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया, जो पिछले वित्त वर्ष से 25.1 पर्सेंट अधिक था। हालांकि इस वित्त वर्ष में कंपनी के आमदनी में 5 पर्सेंट की गिरावट दर्ज की गई। साथ ही कैश मैनेजमेंट सर्विसेज से होने वाली आय में भी गिरावट आई। इस तरह कंपनी के मुनाफे में बढ़ोतरी तो जरूर दर्ज की गई, लेकिन आमदनी के आंकड़ों से पता चलता है कि इसका बिजनेस भी प्रभावित हुआ है।

IPO का वैल्यूएशन?

216 रुपये के ऊपरी प्राइस बैंड पर देखें तो IPO का PE मल्टीपल 19.5x और वित्त वर्ष 2021 का अर्निंग पर शेयर (EPS) 11.09 रुपये बैठता है। इस सेगमेंट की सिर्फ एक कंपनी- SIS लिमिटेड ही शेयर बाजार में लिस्ट है। इसके शेयर भी इसी PE मल्टीपल पर ट्रेड कर रहे हैं। इस तरह यह कहा जा सकता है कि CMS इंफोसिस्टम के IPO की वैल्यूएशन फेयर है।

CMS Infosystems IPO GMP Today

IPO Watch के मुताबिक, ग्रे मार्केट में CMS इंफोसिस्टम्स के शेयर 30 रुपये के प्रीमियम पर उपलब्ध है। ऊपरी प्राइस बैंड पर देखें तो यह इश्यू प्राइस से 14 पर्सेंट अधिक है।

IPO लॉट साइज

इनवेस्टर मिनिमम 69 शेयर और उसके बाद 69 के मल्टीपल में शेयरों के लिए बिड लगा सकते हैं।

IPO एप्लीकेशन लिमिट

एक बिडर न्यूनतम एक लॉट के लिए बिड लगा सकेगा और एक बिडर अधिकतम 13 लॉट के लिए बिड लगा सकता है।

इनवेस्टमेंट लिमिट

रिटेल इनवेस्टर्स एक लॉट में मिनिमम 14,904 रुपये और 13 लॉट में अधिकतम 1,93,752 रुपये इनवेस्ट कर सकते हैं।

IPO अलॉटमेंट डेट

शेयरों के अलॉटमेंट की घोषणा की अनुमानित तारीख 28 दिसंबर है, असफल इनवेस्टर्स को 29 दिसंबर तक रिफंड मिल सकता है और सफल बिडर्स के अकाउंट में 30 दिसंबर तक शेयर पहुंचने की उम्मीद है।

IPO लिस्टिंग डेट

NSE और BSE पर शेयर की लिस्टिंग 31 दिसंबर, 2021 31 दिसंबर को होने का अनुमान है।

यह भी पढ़े:  LIC IPO : इस महीने आ सकता है DRHP, तैयार हो रहा 20% एफडीआई सीमा का प्रस्ताव
close