COVID-19 महामारी के बाद Zomato को बचाने के लिए IPO ही एक मात्र रास्ता था : दीपिंदर गोयल

Zomato ने भारतीय शेयर बाजार में किया था शानदार आगाज, 12 अरब डॉलर के वैल्युएशन पर 1.25 अरब डॉलर से ज्यादा पूंजी जुटाई

Zomato : जोमैटो के फाउंडर और सीईओ दीपिंदर गोयल ने कहा कि कोविड-19 के चलते पैदा हुई मुश्किलों, प्राइवेट इनवेस्टर्स के पीछे हटने और फंड की कमी के चलते ही ऑनलाइन फूड डिलिवरी स्टार्टअप को सर्वाइवल के लिए लिस्टिंग कराने के लिए मजबूर होना पड़ा था। उस समय गोयल ने फैसला कर लिया था कि भले ही 50 करोड़ डॉलर के वैल्युएशन पर यह 5 करोड़ डॉलर का आईपीओ ही क्यों न हो, वह ऐसा करेंगे क्योंकि हर प्राइवेट इनवेस्टर ने पैसा देना बंद कर दिया था।

हालांकि, उनकी उम्मीदों के विपरीत कंपनी ने भारतीय शेयर बाजार में शानदार आगाज किया। उसने 12 अरब डॉलर के वैल्युएशन के साथ 1.25 अरब डॉलर से ज्यादा पूंजी जुटाई।

अस्तित्व बचाने के लिए फंड की जरूरत थी

गोयल ने कनफेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री की ग्लोबल यूनिकॉर्न सीराज में सॉफ्टबैंक के कंट्री हेड मनोज कोहली के साथ बातचीत में कहा, “जब हमने आईपीओ लाने का फैसला किया तो उसकी वजह वह नहीं थी जिसके चलते कंपनी आम तौर पर इस योजना पर काम करती। हम अपने अस्तित्व को बचाए रखने की कोशिश कर रहे थे, क्योंकि कोविड पीक पर था और फंड जुटाना खासा मुश्किल था। हमें बने रहने के लिए फंड की जरूरत थी।” यह बीते साल मई-जून का वक्त था।

शानदार आगाज के बाद Tega Industries में अब क्या करें, खरीदें-बेचें या बने रहें, जानें मार्केट एक्सर्ट्स की राय

मार्केट क्रैश में भी नुकसान से बचे रहेंगे आईपीओ इनवेस्टर

इस ऑफर में 9,000 करोड़ रुपये के नए इश्यू और जोमैटो की पहली इनवेस्टर इन्फो एज द्वारा 375 करोड़ रुपये का ऑफर फॉर सेल शामिल था। गोयल ने कहा कि उन्हें संजीव बिखचंदानी ने पब्लिक इनवेस्टर्स के लिए पर्याप्त कमाई का मौका देने के लिए कहा।

ऊंची कीमत होने पर उनके आईपीओ पर दबाव नहीं होने की बात कहते हुए गोयल ने कहा, “उन्होंने कहा था कि अगले डाउन साइकिल में जब मार्केट टूटेगा या जब आप खराब प्रदर्शन करेंगे या जब आपके लिए तिमाही खराब रहेगी तो भी आपका आईपीओ खरीदने वाले मुसीबत से बचे रहेंगे।”

उन्होंने कहा, “सेकेंडरी आईपीओ में लोग बेचकर ज्यादा पैसा कमाने की कोशिश कर रहे हैं, वे ऐसा कर सकते हैं। इसलिए सेकेंडरी आईपीओ की ऊंची कीमत आम तौर पर दीर्घकालिक सेहत को ध्यान में रखते हुए होनी चहिए।” जोमैटो की सफलता के बाद, Nykaa, Policybazaar और Paytm सहित अन्य ऑनलाइन कंपनियों ने अपने पब्लिक ऑफर लॉन्च किए।

यह भी पढ़े:  Bitcoin 4% की गिरावट के साथ 35,000 डॉलर के स्तर पर, उच्चतम स्तर से आधी रह गई कीमत
close