Crypto Market: 2022 की झोली में क्रिप्टो निवेशकों के लिए क्या हो सकता है, आइए जानें

भारत और चीन जैसे बड़े क्रिप्टो मार्केट में प्राइवेट क्रिप्टो करेंसी पर पूरी तरह से पाबंदी की मांग के बावजूद El Salvador जैसे तमाम देशों में क्रिप्टोकरेंसी को मान्यता मिल रही है। जो क्रिप्टोमार्केट के लिए शुभ संकेत है.

2021 क्रिप्टो निवेशकों के लिए एक शानदार साल रहा है। इस अवधि में अधिकांश बड़ी क्रिप्टोकरेंसी में जबरदस्त तेजी देखने को मिली है। 2021 में नॉन फंजिबल टोकन (NFTs) एक बूमिंग इन्वेस्टमेंट विकल्प के तौर पर उभरे हैं। अब सबकी उम्मीदें 2022 से जुड़ी हैं। ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी की तरफ बढ़ते आर्कषण को देखते हुए हर कोई जानना चाहता है कि क्रिप्टोकरेंसी के लिए 2022 कैसा रहेगा।

2022 में तेजी से विकसित होते क्रिप्टो मार्केट के भाव, कारोबार में ग्रोथ, इससे जुड़े नए निवेश प्रोडक्ट्स, क्रिप्टो बाजार से जुड़े नियमों में होने वाले बदलावों, क्रिप्टो से जुड़ी पर्यावरण से संबंधित चिंताओं के मोर्चे पर होने वाली प्रगति और ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से जुड़ी हुई नई खबरों पर बाजार की नजर रहेगी।

गौरतलब है कि ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पिछले कुछ सालों से काफी जोरदार टेक्नोलॉजी के तौर पर उभर रही है। तमाम इंडस्ट्रीज में इसके उपयोग से व्यापक बदलाव आ सकते हैं। ब्लॉकचेन एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसका उपयोग सिर्फ फाइनेंशियल सेक्टर तक ही सीमित नहीं है। यह लगभग सभी क्रिप्टो एसेट में तो यूज होती ही है इसके अलावा गेमिंग, ऑर्ट और एंटरटेनमेंट, इंटरनल अकाउंटिंग के क्षेत्र में भी इसका उपयोग लगातार बढ़ रहा है। उम्मीद है कि 2022 में ब्ल़ॉकचैन टेक्नोलॉजी का प्रसार और तेजी से होगा।

vEmpire के सीईओ डोमिनिक राइडर (Dominic Ryder)का कहना है कि 2022 में हमें क्रिप्टो मार्केट में सेक्टर डाइवर्जन देखने को मिलेगा जो स्टॉक मार्केट में तो आम बात है लेकिन क्रिप्टो बाजार में अभी तक नहीं था। अब हमें क्रिप्टो मार्केट में भी सेक्टर डाइवर्जन देखने को मिल सकता है और यह चीज हमें सबसे पहले गेमिंग और NFT जैसे वर्चुअल रियलटी स्पेस के रुप में देखने को मिल सकती है। इसके अलावा DAOs (decentralised autonomous organisations) को बढ़ावा देने के लिए बड़े प्रयास होते नजर आ सकते हैं।

Aether Industries ने आईपीओ के लिए सेबी में दाखिल की अर्जी, जानिए अहम बातें

गौरतलब है कि अभी तक अधिकांश क्रिप्टो अप्लीकेशन अपनी एडॉप्शन के शुरुआती अवस्था में है। 2022 में क्रिप्टो पर आधारित यील्ड फॉर्मिंग, NFT और स्टॉकिंग जैसे प्रोडक्ट में तेजी से विकास होता नजर आ सकता है। यील्ड फॉर्मिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके तहत क्रिप्टो करेंसी का होल्डर अपनी होल्डिंग रिवार्ड अर्न करने के लिए कर्जे के तौर पर दे सकता है। स्टॉकिंग का मतलब क्रिप्टोकरेंसी की होल्डिंग को एक ऐसे वॉलेट में रखने से है जो ब्लॉकचेन सिस्टम को सपोर्ट देता है और बदले में होल्डर को रिवॉर्ड मिलता है।

इसके अलावा ज्यादा से ज्यादा कंपनियां अब क्रिप्टोकरेंसी को लीगल ट्रेंडर के रुप में स्वीकार करने के लिए तैयार नजर आ रही है। ऐसा होने के साथ ही आगे हमें क्रिप्टोनिवेशकों को अपनी क्रिप्टो होल्डिंग परंपरागत, फाइनेंशियल प्रोडेक्ट जैसे एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) और कोलेट्रेड आधारित बारोइंग में लगाने की सुविधा मिल सकती है।

एक क्रिप्टो, NFTऔर ब्लॉकचेन कंसल्टिंग कंपनी थिंक चेन के फाउंडर Dileep Seinberg का कहना है कि अगला साल क्रिप्टो मार्केट के लिए शानदार साल रहेगा और हमें विभिन्न सेक्टरों में नए निवेश देखने को मिलेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि ईथेरिएम के अलावा हमें 2022 में वैकल्पिक ब्लॉकचेन देखने को मिलेंगे।

गौतरलब है कि भारत और चीन जैसे बड़े क्रिप्टो मार्केट में प्राइवेट क्रिप्टो करेंसी पर पूरी तरह से पाबंदी की मांग के बावजूद El Salvador जैसे तमाम देशों में क्रिप्टोकरेंसी को मान्यता मिल रही है। जो क्रिप्टोमार्केट के लिए शुभ संकेत है और यह अधिकांश लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी में अगले बुलरन के लिए बूस्टर का काम करेगा।

यह भी पढ़े:  मोदी सरकार ने साल 2021 में 24.07 करोड़ लोगों के खातों में भेजा पैसा, तुरंत चेक करें अपना खाता
close