eMudhra IPO: ईमुद्रा ने IPO के लिए SEBI में फाइल किया ड्राफ्ट पेपर, 200 करोड़ का होगा फ्रेश इश्यू

IPO में मौजूदा शेयर होल्डर्स और प्रमोटर्स की तरफ से 8.51 मिलियन शेयरों का ऑफर फॉर सेल (OFS) शामिल

बेंगलुरु स्थित ईमुद्रा लिमिटेड (eMudhra Ltd) ने पब्लिक इनिशियल ऑफरिंग (IPO) के जरिए पैसा जुटाने के लिए सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) की मंजूरी मांगी है। IPO में 200 करोड़ रुपए का एक फ्रेश इश्यू और इसके मौजूदा शेयर होल्डर्स और प्रमोटर्स की तरफ से 8.51 मिलियन शेयरों का ऑफर फॉर सेल (OFS) शामिल है।

OFS में वेंकटरामन श्रीनिवासन की तरफ से 3.29 मिलियन शेयर, तारव पीटीई की तरफ से 3.19 मिलियन शेयर तक, कौशिक श्रीनिवासन द्वारा 0.51 मिलियन शेयर तक, लक्ष्मी कौशिक द्वारा 0.51 मिलियन शेयर तक, अरविंद श्रीनिवासन द्वारा 0.88 मिलियन शेयर तक और ऐश्वर्या अरविंद की तरफ से अधिकतम 0.13 मिलियन शेयर शामिल हैं।

DRHP में कहा गया कि फर्म 39 करोड़ रुपए तक के Pre-IPO प्लेसमेंट पर विचार कर सकती है। IIFL सिक्योरिटीज, यस सिक्योरिटीज और इंडोरिएंट फाइनेंशियल सर्विसेज सेल मैनेजिंग करने वाले बैंक हैं।

डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट प्रोवाइडर फर्म कर्ज चुकाने के लिए लगभग 35 करोड़ रुपए का इस्तेमाल करेगी। 15 अक्टूबर तक, फर्म के लिए कुल उधारी 51.22 करोड़ रुपए थी।

Sigachi Industries के शेयरों में लगा अपर सर्किट, लिस्टिंग के दिन शेयरों में 270% की तेजी आई

फर्म वर्किंग कैपिटल के लिए 40.22 करोड़ रुपए का इस्तेमाल करेगी और 46.36 करोड़ रुपए का इस्तेमाल डिवाइस खरीदने और भारत और विदेशों में स्थापित किए जाने वाले डेटा सेंटर्स की फंडिंग के लिए करेगी।

eMudhra प्रोडक्ट डेवलपमेंट से जुड़ खर्च के लिए 15 करोड़ रुपए और भविष्य के विकास के लिए अपने बिजनेस डेवलपमेंट, सेल्स, मार्केटिंग और दूसरे संबंधित लागतों को बढ़ाने के लिए ईमुद्रा inc में निवेश के लिए 15.27 करोड़ रुपए का इस्तेमाल करेगा।

वित्तीय वर्ष 2021 में डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट मार्केट में 37.9% के मार्केट शेयर के साथ यह फर्म भारत का सबसे बड़ा लाइसेंस प्राप्त सर्टिफाइंग अथॉरिटी है। वित्त वर्ष 2020 में इसका मार्केट शेयर 36.5% था।

इसके रिटेल ग्राहक वित्त वर्ष 2019 में 58,872 से बढ़कर 1.15 लाख हो गए। इसके अलावा, इसके एंटरप्राइज ग्राहक 249 से बढ़कर 518 हो गए। वित्त वर्ष 2021 में कंपनी की कुल आय 132.45 करोड़ रुपए थी, जो एक साल पहले 116.45 करोड़ रुपए थी। इस अवधि के लिए नेट प्रॉफिट पिछले साल में 25.36 करोड़ रुपए के मुकाबले 18.42 करोड़ रुपए रहा।

यह भी पढ़े:  Business Idea: इस बिजनेस से जिंदगी भर घर बैठे होती रहेगी मोटी कमाई
close