HP Adhesives IPO: कल 15 दिसंबर को खुल रहा इस कंपनी का IPO, क्या आपको लगाना चाहिए इसमें पैसा?

HP Adhesives IPO: इश्यू के लिए 262 से 274 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया गया है

एचपी एडहेसिव लिमिटेड (HP Adhesives Limited) का इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) बुधवार 15 दिसंबर को खुलने वाला है। IPO के लिए शुक्रवार 17 दिसंबर तक बोली लगाई जा सकती है। HP Adhesives ने आईपीओ के लिए 262 से 274 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया गया है। अगर आप भी इस आईपीओ को सब्सक्राइब करने की सोच रहे हैं, तो उससे पहले इससे जुड़ी कुछ जाानकारियों को जान लीजिए:

आईपीओ साइज

एचपी एडहेसिव इस आईपीओ से 126 करोड़ रुपये जुटाने की तैयारी में है। इसमें से 113.4 करोड़ रुपये का फ्रेश इश्यू है, जबकि करीब 12.5 करोड़ रुपये का ऑफर-फॉर-सेल (OFS) शामिल है, जिसके तहत कंपनी के शेयरहोल्डर अंजना हरेश मोटवानी करीब 457,000 शेयर बिक्री के लिए रखेंगे।

रिटेल निवेशकों के लिए सिर्फ 10% हिस्सा आरक्षित

आईपीओ का करीब 75 पर्सेंट हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB), 15 पर्सेंट हिस्सा नॉन-इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स और 10 पर्सेंट हिस्सा रिटेल निवेशकों के लिए आरक्षित रहेगा।

MapmyIndia IPO: शेयर अलॉटमेंट डेट पर टिकी सभी की निगाहें, किस ओर इशारा करता है GMP और एक्सपर्ट्स की राय

इश्यू का उद्देश्य

कंपनी आईपीओ से मिली रकम का इस्तेमाल अपनी वर्किंग कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने, महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में नारंगी गांव स्थित अपनी मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के विस्तार और इसके पास स्थिति एक अन्य प्लॉट पर अतिरिक्त यूनिट स्थापित करने में इस्तेमाल करेगी। कंपनी अपनी मौजूदा प्रोडक्ट लाइन्स की क्षमता भी बढ़ाएगी।

लॉट साइज और निवेश

इनवेस्टर्स कम से कम 50 इक्विटी शेयरों और उसके बाद 50 शेयरों के मल्टीपल में बिड लगा सकते हैं। रिटेल इनवेस्टर्स एक लॉट के लिए कम से कम 13,700 रुपये और 14 लॉट के लिए अधिकतम 1,91,800 रुपये का निवेश कर सकते हैं।

कंपनी की प्रोफाइल

एचपी एडहेसिव्स एक मल्टी प्रोडक्ट, मल्टी कैटेगरी कंज्यूमर एडहेसिव्स और सीलैंट्स कंपनी है। यह भारत में अपनी सबसे बड़ी प्रोडक्ट कैटेगरी – पीवीसी सॉल्वेंट सीमेंट के लिए एडहेसिव इंडस्ट्री के कंज्यूमर सेगमेंट में लीडिंग मैन्युफैक्चरर्स में से एक है। यह चुनिंदा पीवीसी पाइप मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के लिए भी प्रोडक्ट बनाती है। भारत में 65 फीसदी के मार्केट शेयर के साथ कंज्यूमर एडहेसिव और सीलैंट्स में पिडिलाइट कंपनी मार्केट लीडर है। वहीं एचपी एडहेसिव का सॉल्वेंट्स में 17 फीसदी मार्केट शेयर है।

वित्तीय सेहत

वित्त वर्ष 2021 में 10.1 करोड़ रुपये का प्रॉफिट दर्ज किया था, जबकि इसके पिछले वित्त वर्ष में उसे 4.7 करोड़ रुपया का घाटा हुआ था। वित्त वर्ष 2021 में कंपनी का रेवेन्यू 118.2 करोड़ रुपये रहा, जो इसके पिछले वित्त वर्ष में 95.5 करोड़ रुपये था। बीते 30 सितंबर को खत्म हुई मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कंपनी ने 3.1 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया था, जो इसके पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 2.93 करोड़ रुपये था। सितंबर तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू 70.51 करोड़ रुपये रहा, जो इसके पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 44.92 करोड़ रुपये था।

यह भी पढ़े:  'Officer’s Choice' व्हिस्की बनाने वाली Allied Blenders ला सकती है IPO, 30 अरब डॉलर जुटाने की योजना
close