Internet Of Things(IoT) क्या होता है? और कैसे Work करता है?

What is Internet Of Things(IoT) in Hindi: आज हम बात करेंगे इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स(IoT) के बारे में और जानेंगे की आखिर Internet Of Things(IOT) क्या होता है? और कैसे काम करता है?

internet of things iot hindi

Internet Of Things या IoT के बारे में आजकल Internet और Tech world में बहुत शोर चल रहा है यह टेक्नोलॉजी manufacturing से लेकर shopping तक हर जगह अपना छाप छोड़ रही है, लेकिन क्या आप जानते है की Internet Of Things क्या है? यह कैसे काम करता है? और क्या यह वास्तव में महत्वपूर्ण है? अगर आप का जवाब न में है तो यह आर्टिकल पूरा जरूर पढ़ें.

Internet Of Things क्या है?

संक्षेप में, Internet Of Things भौतिक उपकरणों, वाहनों, घरेलू उपकरणों और इलेक्ट्रॉनिक्स, सॉफ़्टवेयर, सेंसर, एक्ट्यूएटर और कनेक्टिविटी के साथ एम्बेडेड अन्य वस्तुओं का नेटवर्क है जो ऑब्जेक्ट्स को एक दूसरे से कनेक्ट करने और डेटा का आदान-प्रदान करने में सक्षम बनाता है.

इसमें सभी आकारों के उपकरण की असाधारण संख्या शामिल है –

  • स्मार्ट माइक्रोवेव, जो स्वचालित रूप से आपके भोजन को सही समय में पकाती है.
  • सेल्फ ड्राइविंग कार, जो अपने जटिल सेंसर की help से अपने रास्ते में आने वाली वस्तुओं का automatically पता लगाती हैं.
  • पहनने योग्य फिटनेस डिवाइस जो आपके दिल की धड़कन और उस दिन आपके द्वारा उठाए गए चरणों की संख्या को मापते हैं, फिर उस जानकारी का उपयोग आपके लिए exercise plans तैयार करने और का सुझाव देने के लिए करता है.
  • यहां तक कि connected footballs भी हैं जो ट्रैक कर सकते हैं कि उन्हें कितने दूर और तेज़ फेंका गया है,जिसका डाटा का प्रयोग भविष्य में प्रशिक्षण उद्देश्यों के लिए एक ऐप के माध्यम से रिकॉर्ड किया जा सकता  है.

इन्हें भी जरुर पढ़ेंArtificial Intelligence (AI) क्या है? पूरी जानकारी

Internet Of Things(IoT) कैसे काम करता है?

सेंसर से निर्मित डिवाइसेस और ऑब्जेक्ट्स इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स प्लेटफ़ॉर्म के इंटरनेट से जुड़े होते हैं, जो विभिन्न उपकरणों से डेटा को एकीकृत करता है और विशिष्ट आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए बनाए गए applications के साथ सबसे valuable information को साझा करने के लिए analytics लागू करता है.

ये शक्तिशाली IoT प्लेटफॉर्म सटीक रूप से पता लगा सकते हैं कि कौन सी जानकारी उपयोगी है और किसे सुरक्षित रूप से अनदेखा किया जा सकता है. इस जानकारी का उपयोग पैटर्न का पता लगाने, सिफारिशें करने, और भविष्य की संभावित समस्याओं का पता लगाने के लिए किया जा सकता है.

उदाहरण के लिए, यदि मेरे पास car manufacturing business है, तो मैं जानना चाहूंगा कि कौन से optional components (उदाहरण के लिए चमड़े की सीटें या alloy wheels) सबसे लोकप्रिय हैं. Internet of Things technology का उपयोग, मैं कर सकता हूँ:

  • शोरूम में कौन से क्षेत्र सबसे लोकप्रिय हैं, जहां ग्राहक लंबे समय तक रहते हैं, यह पता लगाने के लिए IoT सेंसर का उपयोग कर सकता हूँ.
  • उपलब्ध sales data में Drill apply कर सकता हूँ ताकि यह पता चल सके कि कौन से components सबसे तेज़ी से बिक रहे हैं;
  • Automatically रूप से supply के साथ sales data को align कर सकता हूँ, ताकि लोकप्रिय आइटम स्टॉक से बाहर न हो पायें.

इन्टरनेट ऑफ़ थिंग्स प्लेटफ़ॉर्म से कनेक्टेड उपकरणों द्वारा pick की गई जानकारी मुझे वास्तविक समय की जानकारी के आधार पर, कौन से components को स्टॉक में रखना है, और किसको नहीं के बारे में स्मार्ट निर्णय लेने में सक्षम बनाता है, जो मुझे समय और पैसा बचाने में मदद करता है.

उन्नत विश्लेषण द्वारा प्रदान की गई insights के साथ प्रक्रियाओं को और अधिक कुशल बनाने की शक्ति आती है. स्मार्ट ऑब्जेक्ट्स और सिस्टम का मतलब है कि आप कुछ कार्यों को स्वचालित कर सकते हैं, खासकर जब ये दोहराए जाने वाले, समय लेने वाली या खतरनाक होते हैं.

आइए कुछ उदाहरण देखें कि यह वास्तविक जीवन में कैसा काम करता है.

इन्हें भी जरुर पढ़ें: भविष्य में आने वाले Top 7 Technology की पूरी जानकारी

Scenario #1: आपके घर में Internet Of Things(IoT)

कल्पना करें कि आप काम पर जाने के लिए हर दिन 7 बजे उठते हैं. आपकी अलार्म घड़ी आपको ठीक से जागाने का काम करती है.

लेकिन अचानक, जब कुछ गलत हो जाता है जैसे की – आपकी ट्रेन रद्द हो गई है और आपको काम में जाने के लिए ड्राइव करना है. एकमात्र समस्या यह है कि ड्राइव करने में अधिक समय लगता है, और देरी से बचने के लिए आपको 6.45 बजे उठने की आवश्यकता होगी. और अचानकर बारिश भी होने लगती है, तो आपको सामान्य से धीमी गति से ड्राइव करने की आवश्यकता होगी.

आपको समय पर काम करना है यह सुनिश्चित करने के लिए, आपको आईओटी-सक्षम अलार्म घड़ी की आवश्यकता होगी जो Automatically इन्टरनेट के माध्यम से जान सकता है कि आपकी सामान्य ट्रेन रद्द कर दी गई है,और यह इन सभी कारकों के आधार पर टाइम को खुद ब खुद को रीसेट कर लेगी.

इसके बाद यह Automatically आपको जल्दी जगा देगी जिससे आपको देरी न हो अगर आपके पास इन्टरनेट से युक्त Coffee  machine हैं तो यह आपके लिए तुरंत coffee भी बना सकती है.

Scenario #2: परिवहन में Internet Of Things(IoT)

अपने स्मार्ट अलार्म से जागने के बाद, अब आप काम में जाने लिए गाड़ी चला रहे होते हैं. लेकिन अचानक आपकी इंजन में कुछ खराबी आ जाती है. तब आप सीधे गेराज में तो नहीं जाएंगे, लेकिन अगर आपका काम जरूरी है और आपको जल्दी office पहुंचना है तो क्या होगा?

एक IoT से कनेक्टेड कार में, सेंसर इंजन की खराबी का पता करता है, और diagnostic bus नामक एक Component इन सेंसर से डेटा एकत्र करता है, जो manufacturer’s के प्लेटफॉर्म पर सबसे relevant जानकारी भेजता है. manufacturer’s कार से डेटा का उपयोग करके आपको किसी नजदीकी डीलर से अपॉइंटमेंट की पेशकश कर सकता है,जो आपकी problem को जल्द से जल्द solve कर सके.

इन्हें भी जरुर पढ़ें: HDR Mode क्या होता है? इसे कब और कहाँ इस्तेमाल करना चाहिए?

यह तो सिर्फ 2 उदाहरण है Internet Of Things(IoT) का उपयोग और भी बहुत से चीजों में होता है जैसे स्मार्ट होम सिस्टम, ट्रैफिक कण्ट्रोल, पिज़्ज़ा डिलीवरी etc.

दोस्तों है न यह Technology बहुत ही शानदार और उपयोगी, इस टेक्नोलॉजी के जरिये हम अपनी दैनिक जीवन को और भी आसान बना सकते है और भविष्य में इस क्षेत्र में बहुत सारी संभावनाएं उभरेंगी.

आपको यह पोस्ट Internet Of Things(IOT) क्या है? और कैसे काम करता है? कैसा लगा comment के माध्यम से जरुर बताये और इस आर्टिकल को social media में शेयर करना न भूलें.

यह भी पढ़े:  क्या Blogging आपके लिए सही है?
close