Medplus Health IPO:13 दिसंबर को खुलेगा इश्यू, सब्सक्रिप्शन के पहले जानिए 10 अहम बातें, निवेश निर्णय लेनें में होगी आसानी

IPO watch पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक ग्रे मार्केट पर इस शेयर का भाव इश्यू प्राइस से 3 रुपये प्रीमियम पर चल रहा है। इस आईपीओ के तहत इक्विटी शेयरों का आवंटन 20 दिसंबर तक हो जाएगा.

30 नवंबर 2006 को स्थापित Medplus Health भारत की दूसरी सबसे बड़ी फार्मेसी रिटेलर है। यह तमाम तरह के प्रोडक्ट उपलब्ध कराती है जिसमें फार्मास्यूटिकल और वेलनेस प्रोडक्ट शामिल है। इसके अलावा तमाम तरह के बेबी केयर प्रोडक्ट साबुन, सेनिटाइजर भी बेचती है।

यहां हम आपको कंपनी और उसके आईपीओ इश्यू के बारे में ऐसी अहम बातें बताने जा रहे हैं जिससे आपको इस आईपीओ में निवेश निर्णय लेने में आसानी होगी।

आईपीओ की तिथि और प्राइस बैंड

यह आईपीओ 10 दिसंबर को खुलकर 15 दिसंबर को बंद होगा। इसका प्राइस बैंड 780–796 रुपये है।

ऑफर डिटेल

इस आईपीओ में 600 करोड़ रुपये का फ्रेश इश्यू होगा जबकि 798.29 करोड़ रुपये का ऑफर फॉर सेल होगा। ऑफर फॉर सेल के तहत वर्तमान शेयर धारक अपनी हिस्सेदारी बेचेगे। इस आईपीओ से 1,398.29 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। ऑफऱ फॉर सेल में Investor PI Opportunities Fund-I 623 करोड़ रुपये के फंड बेचेगी जबकि SS Pharma LLC 107 करोड़ रुपये के शेयर बेचेंगी। इसके अलावा Shore Pharma LLC, Natco Pharma, Time Cap Pharma Labs, ए राघव रेड्डी, के प्रकृति, नवदीप पटयाल, संगीता राजू, आर वेंकट रेड्डी, टी के कूरियन , नित्या वेकेंट रमानी, अतुल गुप्ता, मनोज जयसवाल, राहुल गर्ग, कोल्लेंगोडे रामनाथन लक्ष्मीनारायणन (Kollengode Ramanathan Lakshminarayana) और बिजौ कुरियन (Bijou Kurien) भी इस ऑफर फॉर सेल में अपने शेयर बेचेंगे।

इस ऑफऱ में 5 करोड़ रुपये के शेयर कंपनी के कर्मचारियों के लिए रिजर्व होंगे। पात्रता प्राप्त कर्मचारियों को फाइनल ऑफर प्राइस पर 78 रुपये प्रति शेयर डिस्काउंट मिलेगा। इस इश्यू का 50 फीसदी हिस्सा QIP के लिए रिजर्व है जबकि 15 फीसदी हिस्सा गैर संस्थागत निवेशकों के लिए रहेगा। वहीं 35 फीसदी हिस्से के लिए रिटेल इन्वेस्टर बिड डाल सकेंगे।

राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो वाले इस स्टॉक में एक्सपर्ट को बाउंसबैक की उम्मीद, जानिए क्या हो आपकी निवेश रणनीति

आईपीओ के पैसे का कहां होगा इस्तेमाल

इस आईपीओ से मिले पैसे का इस्तेमाल कंपनी की सब्सियडियरी Optival Health Solutions की वर्किंग कैपिटल जरुरतों को पूरा करने और कंपनी के सामान्य कामकाज के लिए किया जाएगा।

लॉट साइज

इस इश्यू के जरिए इन्वेस्टर कम से कम 1 लॉट के लिए आवेदन कर सकेंगे। इस 1 लॉट में 18 शेयर होंगे। इसके बाद आपको 18 शेयरों के गुणांक में निवेश करना होगा। रिटेल इन्वेस्टर इसमें कम से कम 1 लॉट और अधिकतम 13 लॉट में निवेश कर सकेगा यानी किसी रिटेल इन्वेस्टर की न्यूनतम निवेश सीमा 14,328 रुपये और अधिकतम निवेश सीमा 1,86,264 रुपये होगी।

कंपनी प्रोफाइल

कंपनी की स्थापना 2006 में गंगादि मधुकर रेड्डी (Gangadi Madhukar Reddy) ने की थी। यह कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ भी है। हैदराबाद से अपने कारोबार की शुरुआत करने वाली यह कंपनी अब भारत की दूसरी सबसे बड़ी रिटेल फार्मेसी कंपनी बन गई है। तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र में 31 मार्च 2021 तक कंपनी के 2000 स्टोर थे। Medplus भारत की ऐसी पहली फार्मासी रिटेलर है जिसने ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्लेटफॉर्म पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

वित्तीय स्थिति

वित्त वर्ष 2021 में कंपनी का मुनाफा 63.11 करोड़ रुपये रहा जो वित्त वर्ष 2020 में 1.79 करोड़ रुपये पर था। इस अवधि में कंपनी की आय 2,870.6 करोड़ रुपये से बढ़कर 3,069.26 करोड़ रुपये पर आ गई । सितंबर 2021 में खत्म हुई 6 महीनों की अवधि में कंपनी का मुनाफा 66.36 करोड़ रुपये रहा। वित्त वर्ष 2021 के लिए कंपनी का नेट मार्जिन 2.06 फीसदी था जो कि वित्त वर्ष 2020 में 0.06 फीसदी था।

कंपनी से जुड़े अहम जोखिम

कंपनी को दवाओं की कीमतों पर रेगुलेटरी कैप से जुड़े जोखिम का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा प्रमोटरों की शेयर होल्डिंग का कुछ हिस्सा गिरवी है। इसके साथ ही ऑनलाइन फॉर्मेसी में बढ़ती प्रतिस्पर्धा भी इस स्टॉक से जुड़ा एक रिस्क है।

प्रमोटर और मैनेजमेंट

गंगादी मधुकर रेड्डी, Agilemed Investments Pvt Ltd.और Lone Furrow Investments Pvt Ltd कंपनी के प्रमोटर है। गंगादि मधुकर रेड्डी 2006 में कंपनी के स्थापना के बाद से ही इसके मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ है। इसके अलावा अनिश कुमार सराफ और अतुल गुप्ता नॉन एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर हैं।

GMP लिस्टिंग और आवंटन की तिथि

IPO watch पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक ग्रे मार्केट पर इस शेयर का भाव इश्यू प्राइस से 3 रुपये प्रीमियम पर चल रहा है। इस आईपीओ के तहत इक्विटी शेयरों का आवंटन 20 दिसंबर तक हो जाएगा और जिन लोगों को आईपीओ में शेयर हासिल नहीं होंगे उनके पैसे 21 दिसंबर तक रिटर्न हो जाएंगे और जिनका आईपीओ लग जाएगा उनके शेयर 22 दिसंबर तक डीमैट अकाउंट में आ जाएंगे। 23 दिसंबर को बीएसई और एनएसई पर Medplus शेयरों की लिस्टिंग हो जाएगी।

यह भी पढ़े:  Hexagon Nutrition ने सेबी में दाखिल की आईपीओ की अर्जी, जुटाएगी 600 करोड़
close