Medplus Health Services लिस्टिंग के पहले ग्रे मार्केट में डबल डिजिट प्रीमियम पर कर रहा है ट्रेड

Medplus Health Services IPO: कंपनी के शेयर 23 फीसदी अधिक प्रीमियम पर 180 रुपये प्रति शेयर के भाव पर ट्रेड कर रहा है

Medplus Health Services IPO: देश में सबसे पहले ओमनी-चैनल प्लेटफॉर्म मुहैया कराने वाली और दूसरी सबसे बड़ी फार्मेसी रिटेल चेन मेडप्लस हेल्थ सर्विसेज (Medplus Health Services) का IPO 13 दिसंबर को खुल चुका है। 1398.29 करोड़ रुपये के इस आईपीओ को निवेशकों से बेहतर रिस्पॉन्स मिला है। 13 दिसंबर से 15 दिसंबर के बीच कंपनी का IPO खुला था।

इस इश्यू को बोलीदाताओं द्वारा 52.59 गुना सब्सक्राइब किया गया था। कंपनी ने 2 रुपये के फेस वैल्यू के शेयर की कीमत 780-769 रुपये तय की थी। ग्रे मार्केट की बात करें तो 13 दिसंबर को इसके भाव प्राइस बैंड के अपर प्राइस के मुकाबले 250 रुपये प्रीमियम से बढ़कर 300 रुपये प्रीमियम भाव पर पहुंच गए। हालांकि 22 दिसंबर को यह घटकर 180 रुपये प्रीमियम पर आ गया।

बाजार के जानकारों का मानना है कि कंपनी फंडामेंटल बेहद मजबूत हैं। ग्रे मार्केट में प्रीमियम में आई गिरावट के बारे में जानकारों का कहना है कि ओमीक्रोन की बढ़ती चिंता से इक्विटी मार्केट का सेंटीमेंट नेगेटिव हो गया है। हालांकि जानकारों ने उम्मीद जताई है कि कंपनी के शेयर 1,000-1,050 रुपये के 30 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ लिस्टिंग हो सकती है।

CMS Info Systems का IPO ग्रे मार्केट में 16% प्रीमियम पर हो रहा ट्रेड, जान लें इससे जुड़ी हर डिटेल

Qualified institutional investors ने अपने अलॉट हुए कोटे से 111.89 गुना शेयर खरीदे हैं और गैर संस्थागत निवेशकों (non-institutional investors) के अलग रखे गए हिस्से को 85.33 गुना सब्सक्राइब किया गया। रिटेल निवेशकों और कर्मचारियों में इसकी अच्छी खासी डिमांड देखी गई। रिटेल निवेशकों के रिजर्व पोर्शन को 5.23 गुना और कर्मचारियों के रिजर्व पोर्शन को 3.05 गुना सब्सक्राइब किया गया था। आईपीओ खुलने से पहले कंपनी ने 36 एंकर निवेशकों से 418 करोड़ रुपये जुटाए हैं।

इस आईपीओ में कुल 1.25 करोड़ इक्विटी शेयरों के मुकाबले 66.13 करोड़ शेयरों की बोलियां लगाई गईं। इसमें 52,645 करोड़ रुपये के शेयर खरीदने की डिमांड की गई। जबकि कंपनी ने अपने पब्लिक इश्यू के जरिए 796 रुपये प्रति शेयर के भाव पर 1398 करोड़ रुपये जुटाए।

IPO के जरिए जुटाए गए पैसों का इस्तेमाल कंपनी के सब्सिडियरी ऑप्टिवल की वर्किंग कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने और आम कॉरपोरेट उद्देश्यों के लिए किया जाएगा। इश्यू के लिए एक्सिस कैपिटल, क्रेडिट सुइस सिक्योरिटीज (इंडिया), नोमुरा फाइनेंशियल एडवायजरी व सिक्योरिटीज (इंडिया) और एडेलवेइस फाइनेंशियल सर्विसेज बुक रनिंग लीड मैनजर हैं। कंपनी की लिस्टिंग 23 दिंसबर को होगी।

यह भी पढ़े:  Paytm IPO: लिस्टिंग के बाद 350 कर्मचारी एक झटके में बन जाएंगे करोड़पति, जानिए क्या रही वजह
close