Oyo ने 1.2 अरब डॉलर के पब्लिक ऑफर के लिए फाइल किया DRHP, फाउंडर नहीं बेचेंगे हिस्सेदारी

कंपनी का पब्लिक ऑफर अगले वर्ष की शुरुआत में आ सकता है। फंड का इस्तेमाल एक्सपैंशन और कर्ज चुकाने में होगा

हॉस्पिटैलिटी सेक्टर की बड़ी कंपनियों में शामिल ओयो ने इनिशियल पब्लिक ऑफर (IPO) के जरिए 1.2 अरब डॉलर (लगभग 8,430 करोड़ रुपये) हासिल करने के लिए मार्केट रेगुलेटर SEBI को डॉक्यूमेंट जमा किए हैं। कंपनी इस फंड का इस्तेमाल कर्ज चुकाने और एक्सपैंशन के लिए करेगी।

मनीकंट्रोल की ओर से पहले दी गई रिपोर्ट के अनुसार ओयो के फाउंडर रितेश अग्रवाल IPO में कोई हिस्सेदारी नहीं बेचेंगे। अग्रवाल के पास कंपनी में लगभग 34 प्रतिशत शेयरहोल्डिंग है।

इसके अलावा लाइटस्पीड वेंचर पार्टनर्स, सिकोइया कैपिटल, Star Virtue Investment, ग्रीनओक्स कैपिटल और माइक्रोसॉफ्ट जैसे इनवेस्टर्स भी अपनी हिस्सेदारी नहीं बेचेंगे।

BVG India की IPO लाने की तैयारी, SEBI को जमा किए डॉक्यूमेंट

ऑफर फॉर सेल में सॉफ्टबैंक, A1 Holdings, चाइना लॉजिंग और Global IVY Ventures की ओर से शेयर्स बेचे जाएंगे।

कंपनी का पब्लिक ऑफर अगले वर्ष की शुरुआत में आ सकता है। इसमें 7,000 करोड़ रुपये के नए शेयर्स जारी किए जाएंगे और लगभग 1,430 करोड़ रुपये का ऑफर फॉर सेल होगा।

प्री-IPO प्लेसमेंट होने पर प्राइस कंपनी और इसके स्टेकहोल्डर्स तय करेंगे।

इसके साथ ओयो उन ऑनलाइन कंपनियों में शामिल हो जाएगी जिन्होंने पिछले कुछ महीनों में IPO के लिए डॉक्यूमेंट जमा किए हैं। इनमें पेटीएम, मोबिक्विक और नायका हैं। ऑनलाइन फूड ऑर्डरिंग फर्म जोमाटो का जुलाई में पब्लिक ऑफर आ चुका है।

ओयो ने हाल ही में दुनिया की बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनियों में से एक माइक्रोसॉफ्ट से स्ट्रैटेजिक इनवेस्टमेंट हासिल किया था।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

 

यह भी पढ़े:  Multibagger Stocks : एमके ग्लोबल को एक साल में इस आईटी शेयर में 20% मजबूती की उम्मीद
close