Paras Defence के शेयरों की लिस्टिंग BSE पर इश्यू प्राइस से 171% ऊपर, 475 रुपए पर लिस्ट हुए स्टॉक

Paras Defence का इश्यू रिकॉर्ड 304 गुना सब्सक्राइब हुआ था

Paras Defence के शेयरों की लिस्टिंग बिल्कुल वैसी ही हुई जैसा एनालिस्ट्स उम्मीद कर रहे थे। डिफेंस सेक्टर की इस कंपनी के शेयर BSE पर इश्यू प्राइस से 171.43% ऊपर 475 रुपए पर लिस्ट हुए हैं। जबकि NSE पर इसके शेयर 168% प्रीमियम के साथ 469 रुपए लिस्ट हुए। एनालिस्ट्स पहले से ही यह अनुमान जता रहे थे कि पारस डिफेंस के शेयरों की लिस्टिंग 100% से ज्यादा प्रीमियम पर हो सकती है। कंपनी का इश्यू प्राइस 175 रुपए था। हालांकि 10 बजे शेयरों की ट्रेडिंग शुरू होते ही शेयरों में और तेजी आई। Paras Defence का शेयर प्राइस ट्रेडिंग शुरू होते ही सुबह 10 बजे BSE पर 498.57 रुपए परट्रेड करने लगे थे।

कंपनी के 71.40 लाख शेयरों के बदले 217.26 करोड़ इक्विटी शेयरों के लिए बोली लगी है। कंपनी के 175 रुपए के अपर प्राइस बैंड के हिसाब से 38,000 करोड़ रुपए की बोली लगी है।

कंपनी का इश्यू रिकॉर्ड 304 गुना सब्सक्राइब हुआ था। रिटेल इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व हिस्से में 112.81 गुना बोली लगी थी। जबकि नॉन-इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स (NII या HNI) ने अपने हिस्से में 927.70 गुना बोली लगाई थी। क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) के लिए रिजर्व हिस्से में 169.65 गुना सब्सक्रिप्शन हुआ था।

Paras Defence जैसी कुछ शानदार लिस्टिंग

आईपीओ की हिस्ट्री को देखें तो 2017 में आए सालासार टेक्नो इंजीनियरिंग के आईपीओ को 273 गुना अधिक बोली थी। यह उस समय अधिकतम सब्सक्रिप्शन मिलने का रिकॉर्ड था, जो करीब चार सालों तक कायम रहा। 23 सितंबर को पारस डिफेंस ने इस रिकॉर्ड को तोड़ा। सालासार का आईपीओ जुलाई 2017 में 139.35 पर्सेंट के प्रीमियम पर लिस्ट हुआ था। इसने बीएसई पर 259.15 रुपये के भाव पर पर्दापण किया था, जबकि इसका इश्यू प्राइस 108 रुपये प्रति शेयर था।

इसी तरह जनवरी 2018 में अपोलो माइक्रो सिस्टम को 248.51 गुना अधिक बोली मिली थी और इसने 73.82 पर्सेंट का लिस्टिंग गेन दिया था। यह शेयर बीएसई पर 478 रुपये के भाव पर लिस्ट हुआ था, जबकि इसका इश्यी प्राइस 275 रुपये था।

सी तरह एस्ट्रॉन पेपर एंड बोर्ड मिल का आईपीओ भी दिसंबर 2017 में 243 गुना से अधिक सब्सक्राइब हुआ था और इसने 130 पर्सेंट का लिस्टिंग गेन दिया था। इस साल भी 4 आईपीओ को 160 से 200 गुना के बीच में बोली मिली। इनमें MTAR टेक्नोलॉजीज, तत्वा चिंतन फार्मा, नजारा टेक्नोलॉजीज और ईजी ट्रिप प्लानर्स शामिल हैं।

इनमें से  MTAR टेक्नोलॉजीज ने 85 पर्सेंट, तत्व चिंतन फार्मा ने 95 पर्सेंट और नजारा ने 79 पर्सेंट का लिस्टिंग गेन दिया था। हालांकि ईजी ट्रिप प्लानर्स इन सभी में अपवाद रहा है, जो सिर्फ 13.5 पर्सेंट के प्रीमियम पर लिस्ट हुआ। ईजी ट्रिप प्लानर्स का आईपीओ 159 गुना अधिक सब्सक्राइब हुआ था, ऐसे में इसका लिस्टिंग गेन काफी कम माना जा सकता है।

हैप्पिएस्ट माइंड्स ने सितंबर 2020 में 11 पर्सेंट के लिस्टिंग गेन के साथ एंट्री की थी। बर्गर किंग के आईपीओ ने 92 पर्सेंट का रिटर्न दिया था। इन आंकड़ों को देखकर पारस डिफेंस के आईपीओ से निवेशकों की उम्मीदें बढ़ी हुई हैं।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

यह भी पढ़े:  Landmark Cars ने आईपीओ के लिए सेबी में दाखिल की अर्जी, जानिए क्या होगी इसकी साइज और दूसरी अहम बातें
close