Pine Labs अमेरिका में IPO लाने की तैयारी में, 50 करोड़ डॉलर जुटाने की योजना

पाइन लैब्स भारत, मिडिल ईस्ट और साउथईस्ट एशिया में 1,50,000 से ज्यादा मर्चैंट्स को सेवाएं देती है

Pine Labs : सिकोया इंडिया और मास्टरकार्ड इंक के निवेश वाली एशिया की डिजिटल पेमेंट प्रोवाइडर पाइन लैब्स अमेरिका में लिस्टिंग की तैयारी कर रही है और उसे लगभग 50 करोड़ डॉलर मिलने की उम्मीद है। लाइवमिंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, घटनाक्रम की जानकारी रखने वालों के हवाले से यह बात सामने आई है।

7 अरब डॉलर वैल्युएशन की उम्मीद

उन्होंने कहा कि कंपनी ने इस साल की पहली छमाही में जल्द से जल्द न्यूयॉर्क में एक इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग (आईपीओ) के लिए यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन में गोपनीय रूप से डॉक्यूमेंट फाइल किए हैं। उन्होंने कहा कि लिस्टिंग के साथ कंपनी की 5.5-7 अरब डॉलर की वैल्युएशन सामने आ सकती है।

उन्होंने कहा, गोल्डमैन सैक्स ग्रुप इंक और मॉर्गन स्टैनली डील के लिए लीड बैंक हैं। अभी विचार विमर्श जारी है और इश्यू का साइज और टाइमिंग से जुड़ी डिटेल्स में बदलाव हो सकता है। इस संबंध में संपर्क करने पर सिंगापुर की पाइन लैब्स के प्रतिनिधि ने कोई टिप्पणी नहीं की, वहीं गोल्डमैन सैक्स और मॉर्गन स्टैनली ने प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया।

Emcure और Adani Wilmar सहित 38 IPO को मिली मंजूरी, एक्सपर्ट्स से जानिए आगे क्या हो प्राइमरी मार्केट में आपकी रणनीति

कई साल से प्रॉफिट में है कंपनी

ब्लूमबर्ग न्यूज की अगस्त की रिपोर्ट के मुताबिक, पाइन लैब्स 2022 में आईपीओ लाने पर विचार कर रही है। एक स्टेटमेंट के मुताबिक, चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर अमरीश राव (Amrish Rau) कंपनी ने फिडिलिटी मैनेजमेंट एंड रिसर्च कंपनी और ब्लैकरॉक इंक सहित इनवेस्टर्स से 60 करोड़ डॉलर जुटाए थे। कंपनी ने कहा कि वह 18 महीने के भीतर एक पब्लिक ऑफरिंग का लक्ष्य लेकर चल रहा है और कई साल से प्रॉफिट में है।

2021 में इन 10 सेक्टरों पर रही Mutual Funds की नजर, क्या आपने भी किया हैं इनमें निवेश?

राव ने उस समय कहा था कि उस समय कंपनी की वैल्युएशन 3 अरब डॉलर मानी गई थी। इस डील के बाद सितंबर, 2021 में, कंपनी ने यूएस बेस्ड इनवेस्टमेंट मैनेजमेंट कंपनी इनवेस्को से 10 करोड़ डॉलर जुटाए थे। यह निवेश इनवेस्को डेवलपिंग मार्केट्स फंड के जरिये किया गया था।

कई इनवेस्टर्स का भरोसा हासिल

मर्चेंट्स पेमेंट पोओएस और बाई नाउ पे लेटर (बीएनपीएल) सॉल्युशंस उपलब्ध कराने वाली कंपनी को सिकोया कैपिटल, टेमासेक होल्डिंग्स, एक्टिस, पेपाल और मास्टरकार्ड सहित कई ग्लोबल इनवेस्टर्स का समर्थन हासिल है। इसी महीने भारत के सबसे बड़े कमर्शियल बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने स्टार्टअप में 2 करोड़ डॉलर का निवेश किया था।

मुख्य रूप से भारत में है परिचालन

पाइन लैब्स भारत, मिडिल ईस्ट और साउथईस्ट एशिया में 1,50,000 से ज्यादा मर्चैंट्स को सेवाएं देती है। कंपनी ने अप्रैल, 2021 में कंज्यूमर फिनटेक प्लेटफॉर्म फेव के अधिग्रहण के जरिए और ऑर्गनिक दोनों तरीके से कंज्यूमर पेमेंट स्पेस में एंट्री की थी। मुख्य रूप से भारत में परिचालन वाला डिजिटल पेमेंट गेटवे और कॉमर्स प्लेटफॉर्म एप्पल इंक, मैकडॉनल्ड्स कॉर्प और स्टारबक्स कॉर्प सहित एंटरप्राइज कस्टमर्स के लिए पेमेंट्स को सपोर्ट करती है।

यह भी पढ़े:  Metro Brands IPO : राकेश झुनझुनवाला के निवेश वाली कंपनी का IPO 10 दिसंबर को खुलेगा, जानें कब होगी लिस्टिंग
close