RateGain Travel Tech IPO: कंपनी का इश्यू 7 दिसंबर को खुलेगा, प्राइस बैंड 405-415 रुपए तय, जानिए क्या है कंपनी का कारोबार

RateGain Travel Tech IPO: कंपनी इश्यू से 1335.73 करोड़ रुपए जुटाने की तैयारी में है जिसमें से375 करोड़ रुपए का फ्रेश इश्यू है

RateGain Travel Tech IPO: हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल इंडस्ट्री में देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर एज ए सर्विस कंपनी (SaaS) का इश्यू 7 दिसंबर को खुलने वाला है। कंपनी के इश्यू का प्राइस-बैंड 405-425 रुपए है। इश्यू 9 दिसंबर को बंद होगा। कंपनी के इश्यू का एंकर बुक 6 दिसंबर को खुलने वाला है। RateGain Travel Tech के इश्यू में 375 करोड़ रुपए का फ्रेश इश्यू और 2,26,05,530 इक्विटी शेयर ऑफर फॉर सेल में बेचे जाएंगे।

इनवेस्टर Wagner ऑफर फॉर सेल के जरिए 1.71 करोड़ इक्विटी शेयर बेचेगी। वहीं प्रमोटर्स भानू चोपड़ा, मेघा चोपड़ा और ऊषा चोपड़ा 54.91 लाख इक्विटी शेयर बेचेंगे। इस ऑफर में 5 करोड़ शेयर कंपनी के कर्मचारियों के लिए रिजर्व रखा गया है। कर्मचारियों को 40 रुपए प्रति शेयर डिस्काउंट पर इश्यू मिलेगा कंपनी की योजना इश्यू से 1335.73 करोड़ रुपए जुटाने की है।

कहां होगा फ्रेश इश्यू का इस्तेमाल?

कंपनी फ्रेश इश्यू से जुटाए गए रकम का इस्तेमाल सब्सिडियरी कंपनी RateGain UK ने जो कर्ज लिया है उसे चुकाने में करेगी। इसके साथ ही DHISCO के अधिग्रहण का पेमेंट करेगी। कंपनी फ्रेश इश्यू के कुछ रकम का इस्तेमाल रणनीतिक निवेश, अधिग्रहण और इनऑर्गेनिक ग्रोथ में करेगी।

कंपनी फ्रेश इश्यू से जुटाए फंड का एक हिस्सा टेक्नोलॉजी इनोवेशन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और दूसरे ऑर्गेनिक ग्रोथ के कामों में किया जाएगा। इसके साथ ही डाटा सेंटर और कंपनी के दूसरे कामकाज में भी फंड का इस्तेमाल होगा।

मोतीलाल ओसवाल की इस बैंकिंग स्टॉक पर है खरीद की सलाह, 50% तक मिल सकता है रिटर्न

इनवेस्टर्स कम से कम 35 शेयरों के लिए बोली लगा सकते हैं। रिटेल इनवेस्टर्स को एक लॉट के लिए कम से कम 14,875 रुपए खर्च करना होगा। RateGain Travel के इश्यू का 75% क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए 15% नॉन-इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स के लिए और 10% रिटेल इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व है।

क्या करती है कंपनी?

RateGain ट्रैवल इडंस्ट्री में सॉफ्टवेयर सर्विस प्रोवाइड कराती है। यह होटल, एयरलाइन जैसे ट्रैवल और हॉस्पिटैलिटी सॉल्यूशंस प्रोवाइड कराती है। कंपनी मेटा सर्च कंपनियों, वैकेशन रेंटल्स, पैकेज प्रोवाइडर्स, कार रेंटल, रेल, ट्रैवल मैनेजमेंट कंपनियों, क्रूज और फेरी को अपनी सर्विस देती है। हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल इंडस्ट्री में यह दुनिया की सबसे बड़ी डाटा प्वाइंट्स एग्रीगेटर कंपनी है।

2021 में थर्ड पार्टी ट्रैवल और हॉस्पिटैलिटी टेक्नोलॉजी का मार्केट 5.91 अरब डॉलर का है। 2025 तक यह 18% CAGR से बढ़कर 11.47 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगा।

कैसे रहे कंपनी के नतीजे?

फिस्कल ईयर 2021 में RateGain का कंसॉलिडेटेड लॉस 28.57 करोड़ रुपए रहा। एक साल पहले कंपनी को 20.1 करोड़ रुपए का लॉस हुआ था। फिस्कल ईयर 2021 में कंपनी की आमदनी घटकर 250.79 करोड़ रुपए पर आ गई जो एक साल पहले 398.71 करोड़ रुपए थी।

मौजूदा फिस्कल ईयर में अगस्त तक कंपनी का नेट लॉस 8.33 करोड़ रुपए का रहा जो पिछले साल इसी अवधि में 7.85 करोड़ रुपए था। हालांकि इस दौरान कंपनी की आमदनी बढ़कर 125.27 करोड़ रुपए हो गई है जो पिछले साल इसी अवधि में 97.89 करोड़ रुपए थी।

कब होगा अलॉटमेंट?

RateGain के शेयरों का अलॉटमेंट 14 दिसंबर को होने वाला है। जिन लोगों को इसके शेयर नहीं मिलेंगे उनका पैसा 15 दिसंबर तक वापस आ जाएगा। जिन लोगों को इसके शेयर मिलेंगे उनके डिमैट अकाउंट में 16 दिसंबर तक शेयर नजर आने लगेंगे। BSE और NSE पर इसके शेयरों की लिस्टिंग 17 दिसंबर को होगी।

कंपनी में 67.29% हिस्सेदारी भानू चोपड़ा और मेघा चोपड़ा की है। बाकी हिस्सेदारी पब्लिक शेयरहोल्डर्स के पास है जिनमें Wagner और Avataar शामिल है। कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, IIFL सिक्योरिटीज और नोमुरा फाइनेंशियल एडवाइजरी कंपनी के बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं।

यह भी पढ़े:  31 दिसंबर तक निपटा लें अपना ये काम, वरना परिवार को होगा 7 लाख रुपये तक का नुकसान

Redirecting in 10 seconds

Close
close