RateGain Travel Technologies IPO: आज खुला इश्यू, जानिए क्या इसमें निवेश करने का फैसला सही है?

RateGain Travel Technologies IPO: कंपनी के इश्यू का प्राइस बैंड 405-425 रुपए तय किया गया है, जानिए इस पर ब्रोकरेज हाउस की राय

RateGain Travel Technologies IPO: ट्रैवल टेक्नोलॉजी की इस कंपनी का इश्यू आज यानी 7 दिसंबर को खुला है। कंपनी भारत में हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल सेक्टर को सॉफ्टवेयर एज ए सर्विस (Saas) प्रोवाइड करती है। ट्रैवल और हॉस्पिटैलिटी जैसे मार्केट में RateGain अपने इनोवेशन सॉल्यूशंस, बेहतरीन क्लाइंट बेस और विस्तृत सर्विस से मार्केट हिस्सेदारी बढ़ाने की स्थिति में है।

RateGain के पास बहुत बड़ा बाजार है जहां वह अपनी पैठ बना सकती है। कंपनी का मार्केट 2021 में 5.9 अरब डॉलर है जो 2025 तक बढ़कर 11.5 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगा।

कंपनी के इश्यू का प्राइस-बैंड 405-425 रुपए है। इश्यू 9 दिसंबर को बंद होगा। कंपनी के इश्यू का एंकर बुक 6 दिसंबर को खुलने वाला है। RateGain Travel Tech के इश्यू में 375 करोड़ रुपए का फ्रेश इश्यू और 2,26,05,530 इक्विटी शेयर ऑफर फॉर सेल में बेचे जाएंगे।

इनवेस्टर Wagner ऑफर फॉर सेल के जरिए 1.71 करोड़ इक्विटी शेयर बेचेगी। वहीं प्रमोटर्स भानू चोपड़ा, मेघा चोपड़ा और ऊषा चोपड़ा 54.91 लाख इक्विटी शेयर बेचेंगे। इस ऑफर में 5 करोड़ शेयर कंपनी के कर्मचारियों के लिए रिजर्व रखा गया है। कर्मचारियों को 40 रुपए प्रति शेयर डिस्काउंट पर इश्यू मिलेगा। कंपनी की योजना इश्यू से 1335.73 करोड़ रुपए जुटाने की है।

क्या करें निवेशक?

ज्यादातर ब्रोकरेज हाउस का मानना है कि RateGain लिस्ट होने वाली अपने सेक्टर की पहली कंपनी है। लिहाजा उसे इसका फायदा भी होगा। नियर टू मीडियम टर्म में ट्रैवल और हॉस्पिटैलिटी सेगमेंट में कंपनी की संभावनाएं मजबूत हैं।

Swastika Investmart के रिसर्च हेड संतोष मीणा ने कहा, “पिछले दो साल में कंपनी को लॉस हुआ है। हालांकि कोरोनावायरस संक्रमण घटने के बाद कंपनी की संभावनाएं बढ़ेंगी।”

RateGain का कारोबार एसेट लाइट है यानी इसमें बहुत ज्यादा एसेट्स की जरूरत नहीं पड़ती है। कंपनी के इश्यू प्राइस के मुकाबले इसकी वैल्यू फिस्कल ईयर 2021 के 26 रुपए NAV का 16 गुना P/BV है।

RELIANCE, AB CAP और PIRAMAL ENT पर जानिये दिग्गज ब्रोकरेज हाउसेज की रिपोर्ट

मीणा ने कहा, कंपनी अपने सेक्टर की लिस्ट होने वाली पहली कंपनी है और इसे ‘सब्सक्राइब’ रेटिंग दी जा रही है। हालांकि साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि इसके शेयरों पर लिस्टिंग गेन बहुत कम मिलेगा। इनवेस्टर लॉन्ग टर्म के लिए इसमें निवेश कर सकते हैं।

Prabhudas Lilladher ने कहा कि RateGain के लिए सबसे बड़ा जोखिम ये है कि इसकी रेवेन्यू का बड़ा हिस्सा बड़े ग्राहकों से आता है। ब्रोकरेज फर्म ने 405-425 रुपए के प्राइस बैंड के हिसाब से इसका P/S 18 गुना है।

ब्रोकरेज फर्म ने कहा, “हमारा मानना है कि प्रीमियम वैल्यूएशन कंपनी के सुपीरियर नॉन-रेप्लिकेबल प्रोडक्ट पोर्टफोलियो और इसके बड़े बिजनेस मॉडल के लिहाज से वाजिब है।”

क्या करती है कंपनी?

RateGain ट्रैवल इडंस्ट्री में सॉफ्टवेयर सर्विस प्रोवाइड कराती है। यह होटल, एयरलाइन जैसे ट्रैवल और हॉस्पिटैलिटी सॉल्यूशंस प्रोवाइड कराती है। कंपनी मेटा सर्च कंपनियों, वैकेशन रेंटल्स, पैकेज प्रोवाइडर्स, कार रेंटल, रेल, ट्रैवल मैनेजमेंट कंपनियों, क्रूज और फेरी को अपनी सर्विस देती है। हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल इंडस्ट्री में यह दुनिया की सबसे बड़ी डाटा प्वाइंट्स एग्रीगेटर कंपनी है।

2021 में थर्ड पार्टी ट्रैवल और हॉस्पिटैलिटी टेक्नोलॉजी का मार्केट 5.91 अरब डॉलर का है। 2025 तक यह 18% CAGR से बढ़कर 11.47 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगा।

यह भी पढ़े:  साल 2021 के मल्टीबैगर IPO: इस साल लिस्ट हुई इन 15 कंपनियों के शेयरों ने दिया 300% तक का रिटर्न
close