SBI: एसबीआई बैंक ने बदला ये बड़ा नियम, जानें आपको कैसे होगा फायदा

एसबीआई बैंक ने नियम बदल दिये हैं, इससे ग्राहकों को फायदा होने वाला है

SBI Alert: अब देश का सबसे बड़े पब्लिक सेक्टर बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) 1 फरवरी 2022 से 5 लाख रुपये तक के IMPS फंड ट्रांसफर पर चार्ज नहीं लेगा। जबकि, इससे ज्यादा अमाउंट ट्रांसफर करने पर सर्विस चार्ज बढ़ा दिये हैं। यहां इसमें आपको एक तरफ फायदा होने वाला है और दूसरी तरफ नुकसान भी होने वाला है।

जानें अब कितना लगेगा चार्ज?

एसबीआई के अनुसार 5 लाख रुपये से अधिक IMPS के जरिये पैसा ट्रांसफर करने पर 20 रुपये + प्लस GST चार्ज लगेगा। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अक्टूबर 2021 में IMPS के माध्यम से ट्रांजैक्शन का अमाउंट 2 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया था। रिजर्व बैंक ने IMPS के जरिए होने वाले ट्रांजैक्शन की लिमिट बढ़ाई थी। अब एक दिन में 2 लाख रुपए के बजाय 5 लाख रुपए ट्रांसफर कर सकते हैं।

जानिए क्या होता है IMPS?

MPS यानी Immediate Payment Service नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) का अहम हिस्सा है। इसके जरिए 24X7 फंड ट्रांसफर किया जा सकता है। इसमें इंटरनेट बैंकिंग के अलावा मोबाइल बैंकिंग ऐप्स, बैंक ब्रांच, ATM, SMS और IVRS के जरिए फंड ट्रांसफर होता है। हालांकि RBI ने डेली ट्रांजैक्शन की जो सीमा बढ़ाई है वह SMS और IVRS पर लागू नहीं होती। SMS और IVRS के जरिए सिर्फ 5000 रुपए का ही ट्रांसफर होता है।

यह भी पढ़े:  घर में है पैसे की इमरजेंसी, मोदी सरकार तुरंत 1 घंटे में ट्रांसफर करेगी पैसा- यहां करना होगा अप्लाई
close