SBI MF IPO : एसबीआई की म्युचुअल फंड वेंचर की 6% हिस्सेदारी बेचने की योजना, बोर्ड ने दी मंजूरी

देश का सबसे बड़ा बैंक इस आईपीओ के जरिये 1 अरब डॉलर जुटाने पर विचार कर रहा है

SBI MF IPO : स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (State Bank of India) ने बुधवार को कहा कि वह आईपीओ (IPO) के जरिये अपने म्यूचुअल फंड (mutual fund) वेंचर में अपनी 6 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की संभावनाओं पर विचार करेगा। एसबीआई ने एक्सचेंजेस में दिए एक बयान में कहा, बैंक के सेंट्रल बोर्ड की एग्जीक्यूटिव कमेटी ने आईपीओ के जरिए एसबीआई फंड्स मैनेजमेंट (SBI Funds Management) प्राइवेट लि. में बैंक की 6 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की संभावनाओं पर विचार करने के लिए अपनी मंजूरी दे दी है, जो सभी रिग्युलेटरी अप्रूवल्स पर निर्भर है।

एसबीआई फंड्स मैनेजमेंट में हैं एसबीआई की 63 फीसदी हिस्सेदारी

एसबीआई के पास वर्तमान में एसबीआई फंड्स मैनेजमेंट में 63 फीसदी हिस्सेदारी है और बाकी हिस्सेदारी पेरिस के अमुंडी एसेट मैनेजमेंट (AMUNDI Asset Management) की है जो उसने अपने पूर्ण स्वामित्व वाली सब्सिडरी अमुंडी इंडिया होल्डिंग (Amundi India Holding) के जरिये ले रखी है।

ब्लूमबर्ग ने फरवरी, 2021 की अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि देश का सबसे बड़ा बैंक इस आईपीओ के जरिये 1 अरब डॉलर जुटाने पर विचार कर रहा है। इसमें कहा गया, एसबीआई के म्यूचुअल फंड की वैल्यू फिलहाल 7 अरब डॉलर है। भले ही अभी आईपीओ की टाइमिंग तय नहीं है, लेकिन ऐसी उम्मीद है कि बैंक अगले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में लिस्टिंग पर विचार कर सकता है।

ITC analyst meet : मैनेजमेंट की डिमर्जर, इनवेस्टमेंट से जुड़ी योजनाओं पर ITC के शेयर चढ़े, क्या करें इनवेस्टर्स?

एसबीआई कार्ड्स की लिस्टिंग से जुटाए 10,340 करोड़

एसबीआई ने बीते साल लाइफ इंश्योरेंस और कार्ड बिजनेस में अपनी कुछ हिस्सेदारी बेचने के बाद अपने नॉन कोर ऑपरेशन को मोनेटाइज करने की रणनीति के तहत म्यूचुअल फंड आर्म को लिस्ट कराने की योजना बनाई है। एसबीआई ने एसबीआई कार्ड्स की लिस्टिंग से 10,340 करोड़ रुपये से ज्यादा और एसबीआई लाइफ आईपीओ के जरिये 8,400 करोड़ रुपये जुटाए थे।

5 लाख करोड़ रुपये है एसेट अंडर मैनेजमेंट

एसबीआई म्यूचुअल फंड की वेबसाइट के मुताबिक, 5 लाख करोड़ रुपये की एसेट अंडर मैनेजमेंट के साथ वह भारत का सबसे बड़ा म्यूचुअल फंड है। इनवेस्टर प्रिजेंटेशन के मुताबिक, मार्च, 2021 में समाप्त वित्त वर्ष में फंड हाउस ने 862.7 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट दर्ज किया था। एसबीआई म्यूचुअल फंड बिजनेस अपनी तरह की तीसरी लिस्टिंग होगी। इससे पहले यूटीआई एसेट मैनेजमेंट कंपनी और एचडीएफसी एसेट मैनेजमेंट कंपनी की लिस्टिंग हो चुकी है।

यह भी पढ़े:  Adani Wilmar का IPO इसी महीने में हो सकता है लॉन्च, साइज घटाकर ₹3,600 करोड़ किया
close