Shriram Properties IPO: इश्यू प्राइस से मामूली ऊपर लिस्ट होगा शेयर, GMP से मिल रहा कुछ ऐसा संकेत

Shriram Properties IPO ग्रे मार्केट प्रीमियम (GMP) लगभग एक हफ्ते से 10 रुपए से 15 रुपए के बीच बना हुआ है

Shriram Properties IPO: श्रीराम प्रॉपर्टीज का IPO 20 दिसंबर 2021 को भारतीय शेयर मार्केट में आने की उम्मीद है। इसी के चलते बाजार के जानकारों के मुताबिक, श्रीराम प्रॉपर्टीज के शेयर आज ग्रे मार्केट में 12 रुपए के प्रीमियम पर उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ हफ्तों के ग्रे मार्केट प्रीमियम से जो संकेत मिले हैं उसके मुताबिक, इसकी लिस्टिंग इश्यू प्राइस से कुछ ऊपर हो सकती है, क्योंकि श्रीराम प्रॉपर्टीज का IPO ग्रे मार्केट प्रीमियम (GMP) लगभग एक हफ्ते से 10 रुपए से 15 रुपए के बीच बना हुआ है।

Shriram Properties IPO GMP

मार्केट ऑब्जर्वर के अनुसार, श्रीराम प्रॉपर्टीज का IPO GMP आज 12 रुपए है, जो कल के GMP 17 रुपए से 5 रुपए कम है। मार्केट ऑब्जर्वर ने आगे कहा कि श्रीराम प्रॉपर्टीज के IPO ग्रे मार्केट वैल्यू में कल 10 रुपए से 17 रुपए तक की उछाल के बाद 7 रुपए की बढ़ोतरी हुई थी। लेकिन, ऐसा लगता है कि यह एक बार फिर से 10 रुपए से 15 रुपए प्रति शेयर प्रीमियम की सीमा में आ गया है, जो कि पिछले एक हफ्ते से दिखा रहा था।

इस GMP का क्या मतलब है?

मार्केट ऑब्जर्वर ने आगे कहा कि GMP IPO से लिस्टिंग गेन के बारे में ग्रे मार्केट से एक अनौपचारिक संकेत है। जैसा कि श्रीराम प्रॉपर्टीज का IPO GMO आज 12 रुपए है, इसका सीधा सा मतलब है कि ग्रे मार्केट श्रीराम प्रॉपर्टीज की शेयर लिस्टिंग लगभग 130 रुपए (118 रुपए + 12 रुपए) की उम्मीद कर रहा है, जो कि 112 रुपए से 118 रुपए प्रति इक्विटी शेयर ​​के प्राइस बैंड से लगभग 10% ज्यादा है।

उन्होंने कहा कि श्रीराम प्रॉपर्टीज का IPO GMP 10 रुपए से 15 रुपए की रेंज में उतार-चढ़ाव, एक संकेत है कि कंपनी के शेयरों में लिस्टिंग डेट पर मामूली लिस्टिंग गेन होगा। ऐसी उम्मीद है कि 20 दिसंबर 2021 कंपनी शेयर लिस्ट हो सकते हैं।

CMS Info Systems: इश्यू 21 दिसंबर को खुलेगा, प्राइस बैंड 205-216 रुपए तय हुआ, जानिए पूरी डिटेल

हालांकि, ऑब्जर्वर्स ने कहा कि GMP एक अनौपचारिक डेटा है और इसका कंपनी की बैलेंस शीट से कोई डायरेक्ट या इनडायरेक्ट संबंध नहीं है। इसलिए, GMP कंपनी की वित्तीय स्थिति के बारे में कोई ठोस तस्वीर नहीं देता है।

Mint के मुताबिक, UnlistedArena.com के फाउंडर अभय दोशी ने कहा, “ऑपरेशनल के मोर्चे पर, रेवेन्यू नीचे की ओर रहा है और कंपनी ने पिछले दो सालों से घाटा दर्ज किया है। कीमतों में नरमी दिख रही है, लेकिन प्रमोटरों की कम हिस्सेदारी और घाटा कंपनी की कुछ अहम चिंताएं हैं।”

यह भी पढ़े:  Latent View Analytics IPO:प्राइस बैंड 190-197 रुपए निर्धारित, जानिए डिटेल
close