Sundar Pichai के बारे में 10 महत्वपूर्ण बातें हिंदी में

By 11 Comments

भारत में बहुत से ऐसे लोग हुए जिन्होंने भारत देश का नाम हमेशा ऊंचा रखने के लिए कुछ भी कर जाते हैं। या फिर कुछ लोग अपने करियर को बनने की मेहनत कर रहे हैं फिर भी उनका नाम हुआ। उन्हीं में से एक हैं Sundar Pichai जिन्होंने एक साधारण स्कूल में पढ़ाई की लेकिन खड़गपुर के आईआईटी से बीटेक किया। इसके बाद इनके साथ जो भी हुआ वो उन्होंने अपनी मेहनत के बल पर हासिल किया। Sundar Pichai Biography in Hindi में आपको गहराई से पढ़ना चाहिए और यहां आपको सही जानकारी मिलेगी।

undar-Pichai ki impotent baten

  1. Sundar Pichai का जन्म 12 जुलाई, 1972 को तमिलनाडु के मदुरै शहर में हुआ था। इनके पिता विद्युत इंजीनियर और मां स्टेनोग्राफर थीं।
  2. Sundar Pichai ने अपनी 10वीं तक की पढ़ाई जवाहर विद्यालय से की थी और 12वीं की पढ़ाई वाना-वानी स्कूल से पूरी की।
  3. इन्होंने मेटलर्जिकल इंजीनियरिंग की पढाई भारतीय प्रोद्योगिकी संस्थान खड़गपुर से पूरी की और फिर उऩ्हें अमेरिका जाने के लिए स्कॉलरशिप मिली। मगर एयर टिकट के लिए उनके पिता के पास पैसे नहीं थी और उन्होंने कर्जा लेकर उन्हें भेजा था।
  4. अमेरिका में Sundar Pichai ने भौतिक विज्ञान और इंजीनियरिंग में मास्टर्स किया और फिर व्हार्टन स्कूल ऑफ पेंसिल्वेनिया से एमबीए की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद वे भारत वापस आ गए और यहां पर जॉब सर्च करने लगे।
  5. इसी बीच Sundar Pichai की शादी उनके साथ पढ़ने वाली अंजली से हो गई। इनके दो बच्चे हैं और ये सभी न्यूयॉर्क में रहते अपने माता-पिता के साथ रहते हैं।
  1. साल 2004 में सुंदर पिचाई की Google में जॉब लगी और वे अमेरिका चले गए। यहां पर इन्हें उत्पाद प्रबंधन, कई खोजों और नये विचारों से संबंधित काम दिया गया था।
  2. Sundar Pichai आज भी गूगल में सेवा दे रहे हैं और इतने सालों में उन्होंने गूगल क्रोम, गूगल मैप, गूगल ड्राइव जैसे एप बनाए जिन्होंने उपभोक्ता के कई काम आसान कर दिए।
  3. साल 2010 में पिचाई ने गूगल के नए वीडियो कोडेक VP8 के ओपन सोर्सिंग का एलान किया था और गूगल के इस वीडियो को कोडेक ने एक नया वीडियो फॉर्मेट WebM प्रस्तुत किया था।
  4. साल 2014 में गूगल के को-फाउंडर लैरी पेज ने पिचाई को प्रोडक्ट हेड बनाने की अनाउंसंमेंट की थी और अल्फाबेट इंक अब गूगल के सभी प्रोडक्ट्स और कंपनियों को होल्डिंग कंपनी होगी और इसके सीईओ लैरी पेज होंगे।
  5. साल 2011 में Twitter ने Sundar Pichai को जॉब ऑफर किया था और वो तैयार भी हो गए थे लेकिन गूगल ने नौकरी ना छोड़ने के 305 करोड़ रुपये दिए थे क्योंकि गूगल जानता था कि उनमें कुछ बात तो है।

बेला आहूजा एक हिंदी content handler और blogger हैं, जिन्हें अपने पाठकों और फॉलोअर्स के लिए Real life story, लाइफस्टाइल, और हिंदी कोट्स आदि रिसाइकिलिंग जैसे विषयों पर लिखना पसंद है। बेला में सबसे जटिल विषय वस्तु को समझने में आसान बनाने की शानदार क्षमता है।

यह भी पढ़े:  WordPress Blog के लिए Right Web Hosting कैसे Choose करे ?
close