Tega Industries का grey market में दिख रहा दमखम, 13 दिसंबर को मजबूती के साथ लिस्टिंग की उम्मीद

आईपीओ वाच के मुताबिक, ग्रे मार्केट में 300 रुपये के प्रीमियम के साथ पब्लिक इश्यू में हो रहा है कारोबार

Tega Industries IPO: टेगा इंडस्ट्रीज के इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) के लिए क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (क्यूआईबी) की तरफ से रिकॉर्ड सब्सक्रिप्शन के बाद अब यह 13 दिसंबर को लिस्टिंग के लिए तैयार है। हालांकि, इससे पहले ग्रे मार्केट (grey market) में टेगा इंडस्ट्रीज का आईपीओ मजबूती के साथ कारोबार कर रहा है, जिससे इसकी अच्छी मजबूती के साथ लिस्टिंग की उम्मीद की जा रही है।

क्यूआईबी सब्सक्रिप्शन ने तोड़े एक दशक के रिकॉर्ड

Tega Industries वैश्विक मिनरल बेनिफिसिएशन, खनन और बल्क सॉलिड हैंडलिंग उद्योग के लिए विशेष ‘परिचालन के लिहाज से अहम’ और बार-बार इस्तेमाल होने वाले उत्पादों की अग्रणी विनिर्माता और वितरक कंपनी है।

सब्सक्रिप्शन के लिए 1 दिसंबर को खुले इसके आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) ने QIB की श्रेणी में सबसे ज्यादा सब्सक्रिप्शन हासिल करके पिछले दशक के रिकॉर्ड तोड़ दिए। सब्सक्रिप्शन के आखिरी दिन 3 दिसंबर को, QIB के लिए निर्धारित भाग के लिए 215.5 गुना आवेदन मिले, वहीं यह इश्यू 219 गुना तक सब्सक्राइब हुआ।

गौर करने की बात है कि QIB के लिए पिछला सबसे ज्यादा सब्सक्रिप्शन HDFC Asset Management Company Ltd को मिला था, जिसे 25-27 जुलाई, 2018 तक लॉन्च इसके आईपीओ के लिए क्यूआईबी निवेशकों की तरफ से 192.3 गुना सब्सक्रिप्शन हासिल हुआ था। इसके बाद क्यूआईबी के हिस्से के लिए 189.6 गुने सब्सक्रिप्शन के साथ इंडिगो पेंट्स, 185.2 गुने सब्सक्रिप्शन के साथ तत्व चिंतन रहे थे।

Rakesh Jhunjhunwala को Star Health के मैनेजमेंट पर पूरा भरोसा, कहा- इसीलिए नहीं बेचा मैंने एक भी शेयर

ग्रे मार्केट में 300 रुपये प्रीमियम पर ट्रेडिंग

टेगा इंडस्ट्रीज के लिए अलॉटमेंट को 8 दिसंबर को अंतिम रूप दे दिया गया और 10 दिसंबर को इन्वेस्टर्स के डिमैट खातों में शेयर जमा होने हैं।

टेगा का आईपीओ अभी भी इन्वेस्टर्स का खासा ध्यान खींच रहा है, जो लिस्टिंग से पहले ऑफर प्राइस पर प्रीमियम देने को तैयार हैं। आईपीओ वाच के मुताबिक, ग्रे मार्केट में इश्यू 300 रुपये प्रीमियम पर कारोबार कर रहा है।

रिटेल पोर्शन के लिए 29.4 गुना और नॉन इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स के पोर्शन के लिए 666.2 गुना आवेदन मिले। कंपनी के प्राइमरी ऑफर में उसके मौजूदा शेयरहोल्डर्स और प्रमोटर्स ने 619.23 करोड़ रुपये के 1.37 करोड़ इक्विटी शेयरों के लिए बिक्री पेशकश (OFS) की थी। इस ऑफर के लिए प्राइस बैंड 443-453 रुपये प्रति शेयर तय किया गया था। इससे पहले 30 नवंबर को, कंपनी ने 14 एंकर इन्वेस्टर्स को 453 रुपये के ऊपरी प्राइस बैंड पर 41 लाख इक्विटी शेयर अलॉट किए थे और 186 करोड़ रुपये जुटाए थे।

जोश में शुगर शेयर, ग्लोबल बाजार में कीमतों में बढ़ोतरी ने दिखाया असर

एक्सपर्ट्स को बिजनेस मॉडल पर पूरा भरोसा

एक्सपर्ट्स को कंपनी के बिजनेस मॉडल पर भरोसा है, क्योंकि यह ऐसे विशिष्ट उत्पाद बनाती है जिनके स्थान पर दूसरे उत्पाद लेना खासा मुश्किल है या उनका विकल्प नहीं है। साथ ही यह माइनिंग पूंजी खर्च के साइकिल से अछूती है, क्योंकि बिक्री के बाद उसके उत्पादों के रखरखाव पर आने वाले खर्च से उसे बार-बार रेवेन्यू प्राप्त होता है। एक मिल के लाइफसाइकिल के दौरान आम तौर पर स्पेयर्स के बार-बार ऑर्डर से उसे अग्रिम पूंजी खर्च की तुलना में तीन गुनी आय होती है।

यह भी पढ़े:  Tega Industries IPO: 1 दिसंबर को खुल रहा इस कंपनी का IPO, ग्रे मार्केट में चल रहा 50% प्रीमियम, जानिए बाकी डिटेल

Redirecting in 10 seconds

Close
close