Tega Industries IPO: जानें इस इश्यू का ग्रे मार्केट प्रीमियम क्यों है इतना मजबूत?

पिछले एक दशक में क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) से सबसे ज्यादा सब्सक्रिप्शन के साथ आईपीओ ने तोड़े रिकॉर्ड

Tega Industries ने 1 दिसंबर को अपना आईपीओ लॉन्च किया और यह 3 दिसंबर को बंद हो गया। सब्सक्रिप्शन अवधि के दौरान इस IPO को निवेशकों की तरफ से मिले अच्छे समर्थन को देखते हुए 13 दिसंबर को इसकी बंपर लिस्टिंग की उम्मीद की जा रही है। Tega Industries वैश्विक मिनरल बेनिफिसिएशन, खनन और बल्क सॉलिड हैंडलिंग उद्योग के लिए विशेष ‘परिचालन के लिहाज से अहम’ और बार-बार इस्तेमाल होने वाले उत्पादों की अग्रणी विनिर्माता और वितरक कंपनी है।

रिकॉर्ड सब्सक्रिप्शन

इसके आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) ने क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशन बायर्स (QIB) श्रेणी में सबसे ज्यादा सब्सक्रिप्शन हासिल करके पिछले दशक के रिकॉर्ड तोड़ दिए। सब्सक्रिप्शन के आखिरी दिन 3 दिसंबर को, QIB के लिए निर्धारित भाग के लिए 215.5 गुना आवेदन मिले। कुल मिलाकर यह इश्यू 219 गुना तक सब्सक्राइब हुआ।

गौर करने की बात है कि QIB के लिए पिछला सबसे ज्यादा सब्सक्रिप्शन HDFC Asset Management Company Ltd को मिला था, जिसे 25-27 जुलाई, 2018 तक लॉन्च इसके आईपीओ के लिए क्यूआईबी निवेशकों की तरफ से 192.3 गुना सब्सक्रिप्शन हासिल हुआ था। इसके बाद क्यूआईबी के हिस्से के लिए 189.6 गुने सब्सक्रिप्शन के साथ इंडिगो पेंट्स, 18.5.2 गुने सब्सक्रिप्शन के साथ तत्व चिंतन रहे थे।

अच्छे आईपीओ में पैसा लगाने को तैयार निवेशक

QIB श्रेणी के लिए शानदार प्रतिक्रिया से संकेत मिलते हैं कि निवेशक अच्छे आईपीओ में अपना पैसा लगाने को तैयार हैं और बाजार विशेषज्ञों के मुताबिक, क्यूआईबी उन नए कारोबारों में दिलचस्पी दिखा रहे हैं जहां कुछ या कोई कंपनी लिस्टेड नहीं है।

इस प्रकार QIB श्रेणी में 95.68 लाख के ऑफर साइज की तुलना में 209.36 करोड़ इक्विटी शेयरों के लिए बोलियां हासिल हुईं। सभी निवेशकों की तरफ से आईपीओ के लिए अच्छी मांग दिखी। रिटेल श्रेणी के लिए 29.4 गुने आवेदन मिले और गैर संस्थागत निवेशकों की श्रेणी के लिए 666.2 गुना आवेदन मिले।

कंपनी के प्राइमरी ऑफर में कंपनी के मौजूदा शेयरहोल्डर्स और प्रमोटर्स ने 1.37 करोड़ इक्विटी शेयरों के लिए बिक्री पेशकश (OFS) की थी। इस ऑफर में 443-453 रुपये प्रति शेयर मूल्य दायरा निर्धारित किया गया था।

मजबूत है ग्रे मार्केट प्रीमियम

यह ऑफर ग्रे मार्केट में चल रहे 410 रुपये प्रति शेयर के मजबूत प्रीमियम से नियंत्रित हो रहा है और इतने ज्यादा प्रीमियम की वजह मुख्य रूप से उसका मजबूत कारोबार है। ग्रीन पोर्टफोलियो में रिसर्च एनालिस्ट उज्ज्वल कुमार ऊंचे ग्रे मार्केट प्रीमियम की वजह बताते हुए कहते हैं, “कंपनी रिप्लेसमेंट और बदलने की ऊंची संभावनाओं वाले विशिष्ट उत्पाद बनाती है और यह माइनिंग पूंजी खर्च के चक्र से अछूती है, क्योंकि बिक्री के बाद उसके उत्पादों के रखरखाव पर आने वाले खर्च से उसे बार-बार रेवेन्यू प्राप्त होता है।”

मेहता इक्विटीज में वीपी रिसर्च प्रशांत तापसे ने कहा, “हम एक ही उत्पाद से बार-बार रेवेन्यू वाले बिजनेस मॉडल को पसंद करते हैं, जिस तरह से टेगा के उत्पाद बिक्री के बाद एक माइनिंग प्रोसेसिंग यूनिट की जरूरतों को पूरा करते हैं। इससे बार-बार कलपुर्जों के लिए ऑर्डर मिलते हैं।”

यह भी पढ़े:  Supriya Lifescience IPO: आज खुला इश्यू, निवेश से पहले जानिए क्या है इस कंपनी की खासियत और जोखिम
close