Trade setup for today:बाजार खुलने के पहले इन आंकड़ों पर डालें एक नजर, मुनाफे वाले सौदे पकड़ने में होगी आसानी

निफ्टी बैंक के लिए पहला सपोर्ट 36,236.5 और उसके बाद दूसरा सपोर्ट 35,924.4 पर स्थित है। अगर इंडेक्स ऊपर की तरफ रुख करता है तो 37,010 फिर 37,471.4 पर इसको रजिस्टेंस का सामना करना पड़ सकता है।

बाजार ने कल लगातार चार दिनों की गिरावट से मुक्ति पाई और फेडरल रिजर्व के मीटिंग के बाद आईटी, बजाज फाइनेंस और रिलायंस इंडस्ट्रीज के सपोर्ट से हल्की बढ़त के साथ बंदी हासिल की। कल के कारोबार में BSE Sensex 113 अंक बढ़कर 57,901 वहीं, Nifty 27 अंक बढ़कर 17,248 के स्तर पर बंद हुआ। निफ्टी ने कल डेली चार्ट पर क्लोजिंग स्तर से नीचे बंद होते हुए एक बियरिश कैंडल बनाया।

GEPL Capital के करन पई ने बाजार की आगे की दशा और दिशा पर बात करते हुए कहा कि निफ्टी ने कल 20-डे एसएमए (17,310) से ऊपर खुलते हुए पॉजिटिव नोट के साथ शुरूआत की। हालांकि कि ये बढ़त बहुत की कम समय के लिए रही। बाजार पर जल्दी ही गिरावट हावी हो गई। कारोबार के अंत में इंडेक्स एक मजबूत बियरिश कैंडल के साथ पिछले दिन के रेंज में ही बंद हुआ।

प्राइस एक्शन के आधार पर करन पई का कहना है कि आने वाले कारोबारी सत्रों में 17,200 का स्तर निफ्टी के लिए काफी अहम होगा। अगर निफ्टी 17,200 का स्तर तोड़ देता है तो फिर इसमें हमें 17,000-16,800 का स्तर भी देखने को मिल सकता है।

कल के कारोबार में छोटे-मझोले शेयरों का प्रदर्शन दिग्गजों की तुलना में कमजोर रहा था। कल के कारोबार में निफ्टी मिडकैप 0.69 फीसदी और स्मॉलकैप 0.83 फीसदी गिरकर बंद हुआ था।

यहां आपको कुछ ऐसे आंकडे दे रहे हैं जिनके आधार पर आपको मुनाफे वाले सौदे पकड़ने में आसानी होगी। यहां इस बात का ध्यान रखें कि इस स्टोरी में दिए गए ओपन इंटरेस्ट (OI)और स्टॉक्स के वॉल्यूम से संबंधित आंकड़े तीन महीनों के आंकड़ों का योग हैं, ये सिर्फ चालू महीनें से संबंधित नहीं हैं।

Nifty के लिए की सपोर्ट और रजिस्टेंस लेवल

निफ्टी के लिए पहला सपोर्ट 17162.43 और उसके बाद दूसरा सपोर्ट 17076.47 पर स्थित है। अगर इंडेक्स ऊपर की तरफ रुख करता है तो 17356.83 फिर 17465.27 पर इसको रजिस्टेंस का सामना करना पड़ सकता है।

Nifty Bank

निफ्टी बैंक के लिए पहला सपोर्ट 36,236.5 और उसके बाद दूसरा सपोर्ट 35,924.4 पर स्थित है। अगर इंडेक्स ऊपर की तरफ रुख करता है तो 37,010 फिर 37,471.4 पर इसको रजिस्टेंस का सामना करना पड़ सकता है।

कॉल ऑप्शन डेटा

18000 की स्ट्राइक पर 39.20 लाख कॉन्ट्रैक्ट का अधिकतम कॉल ओपन इंटरेस्ट देखने को मिला है जो दिसंबर सीरीज में अहम रजिस्टेंस लेवल का काम करेगा। इसके बाद 17800 पर सबसे ज्यादा 22.25 लाख कॉन्ट्रैक्ट का कॉल ओपन इंटरेस्ट देखने को मिल रहा है। वहीं, 17700 की स्ट्राइक पर 14.57 लाख कॉन्ट्रैक्ट का कॉल ओपन इंटरेस्ट है।

18000 की स्ट्राइक पर काल राइटिंग देखने को मिली। इस स्ट्राइक पर 1.24 लाख कॉन्ट्रैक्ट जुड़े। उसके बाद 17300 पर भी 10,600 कॉन्ट्रैक्ट जुड़ते दिखे हैं। वहीं, 17,200 की स्ट्राइक पर 3,850 कॉन्ट्रैक्ट जुड़े हैं।

17,400 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा कॉल अनवाइंडिंग देखने को मिली। इसके बाद 17,500 और फिर 17,700 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा कॉल अनवाइंडिंग रही।

पुट ऑप्शन डेटा

17000 की स्ट्राइक पर 47.47 लाख कॉन्ट्रैक्ट का अधिकतम पुट ओपन इंटरेस्ट देखने को मिला है जो दिसंबर सीरीज में अहम रजिस्टेंस लेवल का काम करेगा। इसके बाद 16,000 पर सबसे ज्यादा 30.19 लाख कॉन्ट्रैक्ट का पुट ओपन इंटरेस्ट देखने को मिल रहा है। वहीं, 16,500 की स्ट्राइक पर 28.86 लाख कॉन्ट्रैक्ट का पुट ओपन इंटरेस्ट है।

17200 की स्ट्राइक पर पुट राइटिंग देखने को मिली। इस स्ट्राइक पर 2.27 लाख कॉन्ट्रैक्ट जुड़े। उसके बाद 16,900 पर भी 38,200 कॉन्ट्रैक्ट जुड़ते दिखे हैं। जबकि 16,400 पर 28,250 लाख कॉन्ट्रैक्ट जुड़े हैं।

17,400 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा पुट अनवाइंडिंग देखने को मिली। इसके बाद 17,300 और फिर 17,500 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा पुट अनवाइंडिंग रही।

हाई डिलिवरी परसेंटेज वाले शेयर

इनमें डिवीज लैब, एचडीएफसी, टीसीएस, भारती एयरटेल के नाम शामिल हैं। हाई डिलिवारी परसेंटेज इस बात का संकेत होता है कि निवेशक उन शेयरों में रुचि दिखा रहे हैं।

FII और DII आंकड़े

23 नवंबर को भारतीय बाजारों में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 1,468.71 करोड़ रुपए की बिकवाली की। वहीं, इस दिन घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 1,533.15 करोड़ रुपए की खरीदारी की।

NSE पर F&O बैन में आने वाले शेयर

2 दिसंबर को NSE पर सिर्फ 2 स्टॉक F&O बैन में हैं। इनमें Escorts और Vodafone Idea के नाम शामिल हैं। बताते चलें कि F&O सेगमेंट में शामिल स्टॉक्स को उस स्थिति में बैन कैटेगरी में डाल दिया जाता है, जिसमें सिक्योरिटीज की पोजीशन उनकी मार्केट वाइड पोजीशन लिमिट से ज्यादा हो जाती है।

यह भी पढ़े:  Multibagger Stocks : एमके ग्लोबल को एक साल में इस आईटी शेयर में 20% मजबूती की उम्मीद
close